Saturday , 14 December 2019
‘केजरीवाल की मुफ्त वाई-फाई की योजना एक सपना ही बन कर रह गई’

‘केजरीवाल की मुफ्त वाई-फाई की योजना एक सपना ही बन कर रह गई’

नई दिल्ली. केजरीवाल सरकार की मुफ्त वाई-फाई योजना के लिए अब दिल्ली की जनता को अगले साल तक का इंतजार करना पड़ेगा. इस पूरे मामले को दिल्ली सरकार की वादाखिलाफी बताते हुये भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि 56 महीने का कार्यकाल बीत जाने के बाद अचानक अपने वादों को याद कर जनता की भलाई के लिए ताबड़तोड़ घोषणा करने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री ने जनता को दिया एक और धोखा.

वर्ष 2015 में सत्ता में आने से पूर्व केजरीवाल ने अपने घोषणा पत्र में युवाओं की लुभाने के लिए मुफ्त वाई-फाई पूरी दिल्ली में देने की बात कही थी. मनोज तिवारी ने कहा कि आज 56 महीने से अधिक बीत जाने पर जब कुछ महीने ही शेष बचे हैं, तब वादों को पूरा नहीं किया जा रहा है. नयी घोषणायें की जा रही हैं, जो कि केजरीवाल की राजनीतिक मंशा को स्पष्ट करता है.

मुफ्त वाई फाई योजना अगले साल तक के लिए टाल दी गई, क्योंकि दिल्ली सरकार को टेंडर लेने वाली कोई कम्पनी नहीं मिली. केजरीवाल सरकार जो 56 महीने बाद चुनाव को सामने देख जागी है उसने जल्दबाजी में मुफ्त वाई-फाई के लिए टेंडर जारी किया. टेंडर में ऐसी शर्ते रखी गई थी जिसके अध्ययन के बाद कोई भी कम्पनी टेंडर लेने के लिए आगे नहीं आई.