Saturday , 14 December 2019
केदारनाथ की तर्ज पर बद्रीनाथ धाम में बनने जा रही ध्यान गुफा

केदारनाथ की तर्ज पर बद्रीनाथ धाम में बनने जा रही ध्यान गुफा

देहरादून.उत्तराखंड में चारधाम यात्रा राज्य की लाइफ लाइन है. इसी के चलते वैष्णो देवी की तर्ज पर चारधाम श्राइन बोर्ड बनने की कवायद तेज हो गई है. वहीं बद्रीनाथ धाम में भी केदारनाथ धाम की तर्ज पर ध्यान गुफा बनने जा रही है ताकि वहां पर श्रद्धालु मेडिटेशन कर सकें. चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने और श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधा देने के लिए विधि आयोग तमाम कानून बनाने जा रहा है.
चारधाम की सारी व्यवस्थाओं की कमान सरकार के हाथों में दे दिया जाए ताकि सीधे तौर पर सारा फायदा राज्य सरकार को पहुंचे. राज्य विधि आयोग के अध्यक्ष राजेश टंडन ने बीते दिनों राज्य सरकार को चारधाम का एक्ट बनाने से संबंधित प्रस्ताव भेजा था. इसमें राज्य विधि आयोग ने जम्मू कश्मीर में बने श्राइन एक्ट के तर्ज पर उत्तराखंड के चार धामों में भी एक एक्ट बनाने की बात कही थी, जिससे यमुनोत्री, गंगोत्री, बद्रीनाथ और केदारनाथ धाम को मिलाकर चारधाम एक्ट बनाया जाए. इससे ना सिर्फ सरकार को फायदा होगा बल्कि स्थानीय निवासियों को भी फायदा होगा.
राज्य विधि आयोग के अध्यक्ष ने कहा कि चारधाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं को शेल्टर होम की व्यवस्था दी जाए ताकि जो श्रद्धालु होटल का खर्चा नहीं उठा सकते हैं, वह शेल्टर होम में रुक सकें. इसके साथ ही अन्य राज्यों और विदेशों से आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए ऑनलाइन व्यवस्थाएं भी की जाएंगी. बता दें कि अगले साल जब चारधाम के कपाट खुलेंगे तो उससे पहले एक्ट बनकर तैयार हो जाएगा.