Monday , 22 October 2018

प्रशासन जागा तब तक नाबालिग दुल्हन के सात फेरे हो गए

डूंगरपुर. जिले के बांसिया में बाल विवाह होने की सूचना पर पुलिस-प्रशासन मौके पर पहुंचने से एक घंटे पहले ही शादी हो चुकी थी. नाबालिग दुल्हन का गाजे-बाजे के साथ मंडप में सात फेरे पूरे कर सामाजिक रीति रिवाजनुसार शादी हो गई.

सोमवार दोपहर को एसडीएम अभिषेक चारण को एडीएम विनय पाठक ने चारवाड़ा में बाल विवाह होने की सूचना देकर कार्रवाई के निर्देश दिए. दोपहर एक बजे एसडीएम अभिषेक चारण, तहसीलदार अशोक शाह, सीडीपीओ गामडी अहाड़ा शलिकला मेहता, उप निदेशक संजय जोशी, धंबोला पुलिस थाना से एएसआई शंकरसिंह मय जाब्ता मौके पर पहुंचे. जानकारी लेने पर नाबालिग दुल्हन के परिजन गायब मिले. काफी समझाइश के बाद आस पड़ौस के लोगों ने दुल्हन के पिता काना पुत्र हकरा मालीवाड़ को बुलवाया.

दुल्हन की आयु संबंधी कागजात देखने पर दुल्हन नाबालिग होने की पुष्टि हुई. दूल्हे की आयु संबंधी कागजात की जानकारी पर कोई प्रमाण नहीं मिला. नाबालिग दुल्हन की शादी बोड़ामली निवासी कावा पुत्र कचरा अहारी के पुत्र के साथ कराई गई. प्रशासन ने मौका रिपोर्ट तैयार कर कलक्टर को रिपोर्ट भेजी. एसडीएम अभिषेक चारण के निर्देशानुसार गामडी अहाडा सीडीपीओ शशिकला मेहता, उपनिदेशक संजय जोशी ने दूल्हा-दुल्हन के परिजनों व बाल विवाह समारोह में शामिल टेंट, बैंडबाजा, रसोईया समेत के खिलाफ केस दर्ज कराया है. सीआई ब्रजेश कुमार ने बताया कि बाल विवाह होने की सूचना पर पुलिस मौके पर गई थी. शादी हो चुकी थी.

The post प्रशासन जागा तब तक नाबालिग दुल्हन के सात फेरे हो गए appeared first on Udaipur Kiran

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*