Monday , 10 December 2018

बैंक के पूर्व मैनेजर के खिलाफ एक करोड़ के गबन का आरोप, प्रबंधन को 6 माह से पता, पर रिपोर्ट नहीं दी

डूंगरपुर. सदर थाना क्षेत्र के रामपुर सती गांव के मिनी बैंक से बचत बैंक के रूप में जमा एक से डेढ़ करोड़ रुपए की रकम गबन करने के मामले से पर्दा उठा है. शिकायत की जांच सदर पुलिस से की गई है. पूरे मामले में बैंक के अध्यक्ष और मुख्यालय को गबन की जानकारी पिछले 6 माह से थी, लेकिन कोई भी एफआईआर तक दर्ज कराने को तैयार नहीं था. एक महिला के हिम्मत दिखाने से अब कई ऊंचे पदों पर बैठे लोगों से इसके तार जुड़े होने की संभावना है.

पिछले छह माह से दी डूंगरपुर कोऑपरेटिव बैंक के अधीन रामपुर सती मिनी बैंक के कई तरह के खातों में गड़बड़ी कर रकम कर लिए जाने की बाते चल रही थी. लेकिन अधिकृत रूप से कोई भी लिखित शिकायत नहीं होने से कोई पहल भी नहीं कर रहा था. मामले को दबाने के लिए अधिकारियों ने कोई कसर नहीं छोड़ी, लेकिन हाल ही रामपुर सती निवासी सूरज देवी पत्नी बाबूलाल ने हिम्मत दिखाई. उसने मिनी बैंक में बचत खाता खुलवाया था. यह खाता 2 जून 2008 से 6 जुलाई 2016 तक लगातार चलता रहा. खाते में कुल 38 हजार 860 रुपए इस अवधि में जमा हुए. अब महिला को पैसे की जरूरत पड़ी तो उसे लैंप्स के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं. उसने पुलिस से की शिकायत में बताया कि अब वहां कोई अधिकृत व्यक्ति नहीं मिलता है.

महिला ने बताया कि जब रकम जमा कराई जानी शुरू हुई तो घोड़ापला सागवाड़ा निवासी नरपतसिंह मैनेजर था, अब उसका अता-पता नहीं चल रहा है. कई बार मिनी बैंक में रुपए लेने के लिए जा रही है, लेकिन कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिल रहा है.

Report By Udaipur Kiran

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*