Monday , 22 October 2018

पीसीबी ने मांगा बीसीसीआइ से 500 करोड़ मुआवजा

ठाकुर बोले- एक पैसा नहीं देंगे

नई दिल्‍ली . पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने एक बार फिर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) से भारी-भरकम हर्जाने की मांग की है. पाकिस्तान बोर्ड की मांग है कि द्विपक्षीय सीरीज न खेलने की एवज में बीसीसीआइ उसे सात करोड़ डॉलर यानी करीब 500 करोड़ रुपये मुआवजा दे.

ind-vs-pak-cricket अब भारत के खिलाफ पीसीबी ने आइसीसी का दरवाजा खटखटाया है. इस मामले की सुनवाई सोमवार 1 अक्टूबर से दुबई में शुरु होगी

पाकिस्तानी बोर्ड के मुताबिक पीसीबी ने बीसीसीआइ के साथ साल 2014 में सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए थे, जिसके तहत छह द्विपक्षीय सीरीज खेलने पर सहमति बनी थी. जिनमें पाकिस्तान की मेजबानी में घरेलू सीरीज शामिल थी. मगर भारत ने 2008 से अब तक पाकिस्तान के साथ उनकी मेजबानी में ऐसी कोई भी सीरीज नहीं खेली

हालांकि दोनों देश आइसीसी व अन्य मल्टीनेशन टूर्नामेंटों में टकराते रहते हें. पीसीबी के मुताबिक सहमति पत्र के तहत दोनों देशों को 2015 से 2023 के बीच छह द्विपक्षीय सीरीज खेलनी थी, लेकिन बीसीसीआइ के टीम नहीं भेजने से पीसीबी रो भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है.

ठाकुर बोले- भारत एक पैसा नहीं देगा

पाकिस्तान को मुआवजा देने की मांग पर BCCI के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने कहा, यह भारत और पाकिस्तान के बीच एक द्विपक्षीय मामला है इसमें आइसीसी क्या कर रहा है? आइसीसी हमें खेलने के लिए मजबूर नहीं कर सकता और बीसीसीआइ पर कोई दबाव अंतरराष्ट्रीय संकट का कारण बन सकता है.

ठाकुर ने कहा, पाकिस्तान को एक पैसा भारत नहीं देगा. ठाकुर ने कहा कि पहले पाकिस्तान आतंकवाद का खात्मा करे तब उसके साथ क्रिकेट खेलने पर सोचा जा सकता है.

राजीव शुक्ला ने क्या कहा?

राजीव शुक्ला ने कहा है कि बीसीसीआइ को पीसीबी के साथ क्रिकेट में कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन कुछ मुद्दे हैं जिन्हें सरकार के स्तर पर सुलझाना पड़ेगा.

राजीव शुक्ला ने कहा, जहां तक मेरी राय है तो बीसीसीआइ और पीसीबी को अपने मसले खुद सुलझाने चाहिए न कि उन्हें आइसीसी के पास ले जाना चाहिए. बीसीसीआइ तो पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेलना चाहता है लेकिन कुछ मुद्दे हैं और इसलिए बीसीसीआइ को पाकिस्तान जाकर क्रिकेट खेलने के लिए सरकार की अनुमति चाहिए.

राजीव शुक्ला ने कहा, भारत ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किसी भी आइसीसी टूर्नामेंट या एशियाई क्रिकेट काउंसिल के टूर्नामेंट में पाकिस्तान के खिलाफ खेलने से कभी इनकार नहीं किया है इसलिए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को पैसा देने का कोई सवाल नहीं उठता है



Source : http://udaipurkiran.in/hindi/

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*