Monday , 22 October 2018

इस साल नाव पर सवार होकर आएंगी मां दुर्गा

शारदीय नवरात्र का अश्विन शुक्ल प्रतिपदा 10 अक्टूबर बुधवार को शुभारंभ होगा. इससे पूर्व बुधवार के दिन 28 सितंबर 2011 में नवरात्र का शुभारंभ हुआ था. इस साल मां दुर्गा नाव पर सवार होकर हमारे घर में विराजमान होंगी. माता के नाव पर सवारी करने से राज्य में अचानक आपदाएं आने और दुर्घटनाएं होने की आशंका रहती है.

प्रतिपदा सुबह 7:27 बजे तक रहेगी. प्रतिपदा को सूर्योदय सुबह 6:27 बजे होगा. देवी पुराण के अनुसार देवी का आह्वान, स्थापना, पूजन ‌ आरोपण प्रात:काल में ही किया जाना सर्वश्रेष्ठ माना गया है. ऐसे में नवरात्र स्थापना सुबह 6:27 से 7:01 बजे तक कन्या लग्न व द्विस्वभाव लग्न करना सर्वश्रेष्ठ रहेगा.

ज्योतिषशास्‍त्रियों के अनुसार बुधवार के दिन अभिजित मुहूर्त को त्यागना चाहिए. ऐसे में लाभ, अमृत के चौघड़ियों में ही पूजन किया जा सकता है. नवरात्र के नौ दिनों में से सात दिन अनेक योगों का संयोग बन रहा है. चार नवरात्र में रवियोग, दो दिन में राजयोग, एक में सर्वार्थ सिद्धि योग का संयोग आएगा. यूं तो नवरात्र के पूरे नौ दिन ही बहुत शुभ माने गए हैं. इन योगों के संयोग में कोई भी शुभ कार्य, खरीदी, नए काम की शुरुआत करना सोने पर सुहागा होगा. इस साल नवमी के दिन ही 18 अक्टूबर को ही दशहरा भी मनाया जाएगा.

http://udaipurkiran.in/hindi

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*