Monday , 10 December 2018
चामुंडा माता के दर्शन के लिए प्रवेश प्रात: सात से शाम पांच बजे तक

चामुंडा माता के दर्शन के लिए प्रवेश प्रात: सात से शाम पांच बजे तक

जोधपुर, 09 अक्टूबर (उदयपुर किरण). शारदीय नवरात्र पर्व पर बुधवार को घट स्थापना के साथ शुरू हो जाएगा. शहर के सभी प्रमुख नवदुर्गा मंदिरों में तैयारियां अंतिम चरण में है. मेहरानगढ़ स्थित प्राचीन चामुंडा मंदिर में सुव्यस्थित दर्शन की तैयारियां पूरी कर ली गई है. आसोजी नवरात्रा कुंभ स्थापना के साथ 10 अक्टूबर से शुरू होगा.

प्रशासन के निर्देशानुसार मेहरानगढ़ में चामुण्डा माताजी के दर्शन सुबह 07 बजे से शाम 05 बजे तक किए जा सकेंगे. इस दौरान शराब साथ लाना, पीकर आना व डीजे. साउण्ड सिस्टम के साथ श्रद्धालुओं का प्रवेश निषेध रहेगा. इसके साथ ही आगजनी इत्यादि दुर्घटना से बचने के लिए गैस संचालित वाहनों का प्रवेश भी निषेध रहेगा. नवरात्रा के दौरान प्रशासन के निर्देशानुसार मंदिर के द्वार सुबह 07 बजे से खोले जाएंगे. इसलिए माताजी के दर्शन के लिए दर्शनार्थी सुबह 07 बजे से शाम 05 बजे तक मेहरानगढ़ में प्रवेश कर सकेंगे. उसके बाद प्रवेश निषेध व वर्जित रहेगा.

मेहरानगढ़ म्यूजियम ट्रस्ट के निदेशक करणीसिंह जसोल ने बताया कि सतवर्ती पाठ का संकल्प और स्थापना का मुहूर्त सुबह 11.15 से 12.15 के बीच का निकला है. सुबह मंदिर के शिखर पर मुख्य ध्वजा चढ़ाई जाएगी और चारों दिशाओं में छोटी-छोटी ध्वजाएं चढ़ाई जाएंगी. उन्होंने बताया कि प्रशासन के सुझाव के अनुसार सभी व्यवस्थाओं को अंतिम रूप दिया गया है. जयपोल के बाहर से ही एक पंक्ति में लाइनों की व्यवस्था की गई है, जो मंदिर तक रहेगी और डीएफएमडी गेट से ही जयपोल व फतेहपोल से दर्र्शनार्थियों को प्रवेश दिया जाएगा. पट्टे पर महिलाओं, बच्चों व वृद्धजनों के लिए आने-जाने की व्यवस्था की गई है, वे वहीं से जाएंगे और वहीं से आएंगे. इसी प्रकार पुरुषों व युवाओं के लिए सलीम कोट से होते हुए बसंत सागर से आने-जाने की व्यवस्था की गई है. इन सभी स्थानों पर बेरिकेड्स लगाने का कार्य हो चुका है.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*