Saturday , 20 October 2018

पाकीजा मॉल में लगी भीषण आग, करोड़ों का माल जलकर खाक

बुरहानपुर, 09 अक्टूबर (उदयपुर किरण). इंदौर इच्छापुर हाईवे स्थित चार मंजिला पाकीजा मॉल में मंगवार सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात हुए भीषण हादसे के कारण मॉल रखा करोड़ों रुपये का कपडा, सामान जलकर खाक हो गया. गनीमत रही कि कर्मचारियों की जान बच गई. यहां मौजूद करीब छह कर्मचारियों ने छत से कूदकर जान बचाई. वहीं आग लगने के दूसरे दिन मंगलवार तक भी यहां धुंआ उठता रहा. आग की खबर शहर में फैलते ही यहां काफी लोगों का हुजूम भी जमा हो गया.

घटना सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात 1.30 बजे की है. तीसरी मंजिल पर स्टॉकिंग का काम कर रहे कर्मियों को धुएं का अहसास होने पर घबरा गए. कुछ छत की ओर दौड़े तो कुछ पहली मंजिल पर बाहर जाने के लिए दौड़े. छत पर गए पांच युवक पड़ोस की बिल्डिंग की छत पर 15 फीट नीचे कूदकर अपनी जान बचाई. जिन्हें घायल अवस्था में जिला अस्पताल में भर्ती कराया.

त्यौहारों को देखते हुए पाकीजा मॉल में इंदौर से टीम स्टॉकिंग के काम के लिए आई थी. इंदौर से आए अयाज शेख ने बताया कि हम 12 लोग तीसरी मंजिल पर स्टॉक का काम कर रहे थे, नीचे से धुआ निकलते देखा तो हम सभी घबरा गए. आग लगने की शंका हुई तो कुछ घबराकर छत पर दौड़े तो कुछ मेन गेट से निकलने के लिए पहली मंजिल की ओर दौड़े. जब तक मैंने मैनेजर निलेश जैन को फोन लगा दिया था, जिनके पास ताले की चाबी थी, वे पास में ही रहते हैं, इसलिए पांच मिनट में वे आ गए. लेकिन हड़बड़ाहट में अजय सोनी शिकारपुरा निवासी शिकारपुरा, अशफाक कुरैशी, नितिन, सिराज, जावेद छत की ओर दौड़ गए, इनके पास छत के गेट की चाबी होने से ताला खोलकर छत पर आए और घबराहट में एक के बाद एक ने पड़ोस में महेश्वरी की बिल्डिंग पर छलांग लगा दी. इस कारण सभी के पैर में गंभीर चोट आई. आग लगने की खबर के कारण महेश्वरी परिवार छत पर ही था, क्योंकि इनका भी रेडिमेड कपड़ा सिलाई का काम चलने से यहां भी भारी मात्रा में कपड़ा रखा हुआ था, जो लोगों ने इनकी छत पर छलांग लगाई इन सभी की सूचना नीचे जमा हुई भीड़ को खबर कर जिला अस्पताल में पहुंचाया.

अयाज शेख ने बताया कि मैनेजर निलेश जैने के के आने तक हम पहली मंजिल पर ही खड़े थे, पूरे मॉल में धुआं-धुआं होने के कारण कुछ समझ नहीं आ रहा था. सभी साथी घबराए हुए थे. मेरे साथ तुरण, संजय दुबे, अयाज आदि युवक थे. मैनेजर ने दरवाजा खोलते ही हम बाहर हो गए. आग पहली मंजिल पर लगी थी, लेकिन हम इससे काफी दूर थे. आग लगने की खबर से आसपास लोगों की भीड़ लग गई. कुछ देर में आग बुझाने के लिए नगर निगम के दमकल पहुंच गए. रात रात पौने दो बजे से ही आग बुझाने का काम चालू किया गया, जो सुबह 6 बजे तक चल रहा था. मौके पर महापौर अनिल भोसले, आयुक्त पवन सिंग सहित पुलिस बल तैनात कर दिया गया.

मॉल में तल मंजिल में पूरा कपड़े का मार्केट था, पहली मंजिल पर कपड़े, दूसरी पर महिलाओं के कपड़े बिक्री का मार्केट और तीसरी मंजिल पर किराना व अन्य सामान बिकता था, चौथी मंजिल पर मॉल का सामान पड़ा हुआ था. आग लगने के कारण जब मौके पर भीड़ लगी तो पुलिस ने इंदौर-इच्छापुर हाईवे को ब्लॉक कर दिया गया. दो घंटे तक बड़े वाहनों की आवाजाही नहीं हो सकी. इंदौर से स्टॉकिंग के लिए आए अयाज शेख ने बताया कि 15 साल से मैं मॉल में काम कर रहा हूं, कभी इस तरह की घटना कही भी नहीं हुई. पाकीजा में पहली बार यह हादसा हुआ है. पाकीजा के मॉल इंदौर, देवास, उज्जैन में भी बने हुए हैं.

http://udaipurkiran.in/hindi

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*