Monday , 15 October 2018

मध्‍यप्रदेश में मजदूर को मिला अब तक का दूसरा सबसे बड़ा हीरा

पन्‍ना, 09 अक्‍टूबर (उदयपुर किरण). रत्नगर्भा हीरा नगरी पन्ना में कब कोई राजा बन जाए कोई ठिकाना नहीं. आज फिर एक मजदूर करोड़पति बन गया. जानकारी के अनुसार बेनीसागर मोहल्ला पन्ना निवासी मजदूर मोतीलाल प्रजापति पिता दीनदयाल को हीरा विभाग पन्ना द्वारा आठ मीटर की उथली हीरा खदान पन्ना के समीपी ग्राम कृष्‍णा कल्यांणपुर पटी में 22 नवम्बर को स्वीकृत की थी. तब से वह उक्त उथली खदान में कार्य कर रहा था.

मंगलवार सुबह उसे सफलता मिली और जैम क्वालिटी का हीरा मिला. जिसे उसने हीरा कार्यालय में जमा कराया. जहां पर उसका वजन किया गया. हीरा पारखी अनुपम सिंह ने बताया कि उक्त हीरे का वजन 42 कैरेट 59 सेण्ट है कीमत के बारे में उन्होंने कहा कि अभी इसका आंकलन नहीं किया जा सकता है. नीलामी उपरांत ही पता चल सकेगा. वहीं हीरा व्‍यापारी से जब चर्चा की गयी तो उन्होंने कहा कि उसकी कीमत कई करोड़ जायेगी, क्योंकि उक्त हीरा जैम क्वालिटी के साथ ही काफी बड़े वजन का है.

चारों भाई मिलकर करेंगे कोई व्यवसाय

मजदूर के घर आज खुशियों का ठिकाना नहीं रहा. परिजनों से आज उनके परिचितों एवं रिश्तेदारों का आना-जाना एवं बधाई देने वालों का तांता लगा रहा है. हीरा पाने वाले मजदूर मोतीलाल ने बताया कि वे चार भाई हैं और इस हीरे से मिलने वाली कीमत से वे सभी बराबर बांटकर अपना अपना व्यवसाय करेंगे. ताकि उनका शेष जीवन एवं उनके परिजनों का जीवन सुख पूर्वक बीत सके.

मिले तो बहुत बड़े हीरे, लेकिन चोरी छुपे बिक गये

पन्‍ना में देखा जाये तो ऑन रिकार्ड 57 साल बाद यह दूसरा बड़ा हीरा है. लेकिन ऑफ द रिकार्ड देखा जाये तो हीरा व्‍यापारियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि आये दिन 40 से लेकर 70 कैरेट के हीरे मिलते रहते हैं. हीरा एवं पुलिस विभा के सहयोग से मुम्‍बई एवं सूरत के व्‍यापारियों द्वारा पन्‍ना से खरीद कर ले जाया जाता है और सरकार को करोड़ों के राजस्‍व की क्षति प्रतिवर्ष हो रही है.

http://udaipurkiran.in/hindi

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*