Saturday , 20 October 2018

अमीर-गरीब के बीच की खाई दूर करने में भारत 147वें नंबर पर: ऑक्सफैम

नई दिल्‍ली. अमीरों और गरीबों के बीच खाई दूर करने में भारत सरकार के प्रयास बहुत कम हैं. इसे 157 देशों की रैंकिंग में बॉटम-15 में जगह मिली है. इसे 147वीं पायदान रखा गया है. यह इंडेक्स ऑक्सफैम और डेवलपमेंट फाइनेंस इंटरनेशनल ने तैयार किया है. इसने अमेरिका को 23वें स्थान पर रखा है.असमानता घटाने के प्रतिबद्धता सूचकांक में डेनमार्क पहले नंबर पर है. इसने नाइजीरिया, सिंगापुर, भारत और अर्जेंटीना को उन देशों के समूह में रखा है जहां असामनता बढ़ रही है. दक्षिण कोरिया, नामीबिया और उरुग्वे असमानता को घटाने के लिए मजबूत कदम उठा रहे हैं. अमीर देशों में अमेरिका में भी असमानता को खत्म करने में प्रतिबद्धता का अभाव दिखा है. उभरते देशों में चीन को 81वीं, ब्राजील को 39वीं और रूस को 50वीं रैंक दी गई है.

यदि रैंकिंग के अलग-अलग पैमानों की बात करें तो हेल्थकेयर, शिक्षा और सामाजिक सुरक्षा पर सरकारी खर्च के इंडेक्स में भारत को 151वीं रैंक दी गई है. जबकि श्रम अधिकार और मजदूरी के पैमाने पर 141वीं और टैक्सेशन पॉलिसी के पैमाने पर 50वीं रैंक दी गई है.
क्षेत्रीय आधार पर दक्षिण एशिया के आठ देशों में भारत को छठी रैंक दी गई है. सरकारी खर्च और श्रम अधिकार के मामले में इसे छठी और टैक्सेशन पॉलिसी के मामलें में शीर्ष रैंक दी गई है.

असमानता दूर करने वाले दुनिया के टॉप-10 देश

1. डेनमार्क
2. जर्मनी
3. फिनलैंड
4. ऑस्ट्रिया
5. नॉर्वे
6. बेल्जियम
7. स्वीडन
8. फ्रांस
9. आइसलैंड
10. लक्जमबर्ग

http://udaipurkiran.in/hindi

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*