Saturday , 15 December 2018
सुखेर थाना पुलिस ने दो जगह रेस्क्यू मैं 3 बच्चे बाल श्रम से छुड़ाए

सुखेर थाना पुलिस ने दो जगह रेस्क्यू मैं 3 बच्चे बाल श्रम से छुड़ाए

सुखेर थाना पुलिस ने दो कार्रवाइयों में तीन बाल श्रमिक बच्चों को मुक्त करवाया सीडब्ल्यूसी ने दिया अस्थाई प्रवेश

उदयपुर. उदयपुर में चल रहे बाल श्रम के विरोध में रेस्क्यू अभियान के तहत पुलिस थाना सुखेर में आज दो जगह कार्रवाई करते हुए तीन बाल श्रमिकों को मुक्त कराया है दोनों रेस्टोरेंट संचालकों के विरुद्ध जेजे एक्ट में मामला दर्ज किया है.

जिला पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप सिंह के नेतृत्व में चल रहे बाल श्रम उन्मूलन अभियान के तहत पुलिस थाना सुखेर के थाना अधिकारी नेत्रपाल सिंह के साथ हेड कांस्टेबल मुकेश कुमार पहली कार्रवाई अंबेरी के पास चल रहे सांवरिया रेस्टोरेंट पर कि जहां पर करीब 15 साल का एक बालक रेस्टोरेंट पर काम कर रहा था रेस्क्यू के दौरान बालक ने उसे 3:00 ₹4000 मासिक वेतन को 20 से 22 घंटे तक खाना बनाने बर्तन साफ कराने सहित विभिन्न बाल श्रम करने की बात कही पुलिस ने रेस्टोरेंट संचालक रमेश डांगी के विरुद्ध जेजे एक्ट की धारा 75 व 79 प्रकरण दर्ज कर बालक को सुरक्षित रेस्क्यू किया है.

इसी तरह सुखेर पुलिस थाना अपनी दूसरी कार्रवाई न्यू भूपालपुरा के समीप चल रहे कृष्णा रेस्टोरेंट पर कि जहां बाल श्रम करते हुए दो बालक बाल श्रम करते हुए दो बालक रेस्क्यू किए गए. दोनों बालकों की स्थिति अत्यंत दयनीय बताया गई है और इनसे 13 से 15 घंटे बालसन कराया जाना बताया गया है पुलिस ने इस मामले में रेस्टोरेंट संचालक गणेश डांगी के विरुद्ध जेजे एक्ट की धारा 75 व 70 लाइन में प्रकरण दर्ज किया है.

बाल कल्याण समिति ने दिया प्रवेश

पुलिस थाना सुखेर से बाल कल्याण अधिकारी मुकेश कुमार ने रेस्क्यू कर बाल श्रम से मुक्त कराए तीनों बालकों को देर शाम बाल कल्याण समिति सदस्य हरीश पालीवाल के समक्ष निवास पर पेश किया. सदस्य पालीवाल में दोनों बालकों को विशेष देखभाल एवं संरक्षण वाला तथा जेजे एक्ट की धारा दो नियम 4 के तहत बाल श्रम में नियोजित पाए जाने पर उन्हें अविलंब सुखेर स्थित जीवन ज्योति गया में प्रेषित कर आया है दोनों बालकों के मेडिकल एवं आयु परीक्षण के लिए शुक्रवार को होने वाली बैठक में आदेश जारी किए जाएंगे

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*