Monday , 15 October 2018

चित्‍तौड़ में गोतस्करों की धुनाई, कंटेनर के कांच फोड़े

चित्तौडग़ढ़, 10 अक्टूबर (उदयपुर किरण). जिले में बुधवार दोपहर गोरक्षकों ने एक बार पुन: गायों से भरा कंटेनर रूकवाया है. आक्रोशित लोगों ने कंटेनर के चालक व खलासी की धुनाई कर दी. यहां तक कंटेनर में भी तोड़-फोड़ की. मौके पर पहुंची पुलिस ने चालक व खलासी को मुक्त करवा थाने भेजा. कंटेनर से 42 गोवंश मुक्त कराए, जिन्हें पारोली स्थित ऋषि मंगरी गोशाला में खाली कराया है. पुलिस चालक व खलासी से पूछताछ में जुटी हुई है.

जानकारी में सामने आया कि गोरक्षा से जुड़े पदाधिकारियों को गोवंश तस्करी की सूचना मिली थी. इस पर मंगलवार रात से ही चित्तौडग़ढ़-भीलवाड़ा फोरलेन पर जोजरों का खेड़ा स्थित टोल नाके पर निगरानी कर रहे थे. बुधवार दोपहर एक कंटेनर टोल नाके से गुजरा, जिसमें गोवंश होन का अंदेशा जताया. इस पर इस कंटेनर का पीछा किया व टोल नाके से करीब 10 किलोमीटर दूर मेड़ीखेड़ा फाटक के यहां रूकवाया. यहां कंटेनर की तलाशी ली तो उसमें गोवंश भरे हुए थे. थोड़ी ही देर में मौके पर भारी भीड़ जमा हो गई. आक्रोशित ग्रामीणों ने चालक व खलाशी की धुनाई कर दी. यहां तक कंटेनर के कांच भी फोड़ दिए. सूचना मिलने पर पुलिस जाप्ता मौके पर पहुंचा और चालक व खलासी को ग्रामीणों के कब्जे से मुक्त करवा चंदेरिया थाने भेजा. ग्रामीणोंं के आक्रोश को देखते हुए पुलिस को चालक व खलासी को मुक्त कराने में खासी मशक्कत करनी पड़ गई.

सूचना पर गंगरार पुलिस उप अधीक्षक नरपतसिंह, गंगरार थानाधिकारी मांगीलाल विश्नोई, चित्तौडग़ढ़ सदर थानाधिकारी भारतसिंह, चंदेरिया थानाधिकारी उदयसिंह, बस्सी थानाधिकारी आदि मौके पर पहुंचे. बाद में कंटेनर को पारोली स्थित ऋषि मंगरी गोशाला लाया गया. यहां कंटेनर में भरे 42 गोवंश को मुक्त करवा गोशाला में छोड़ा गया. पुलिस हिरासत में लिए चालक व खलासी से पूछताछ कर रही है. इधर, बड़ी संख्या में लोग गोशाला में घुसने लगे तथा गोवंश मुक्त करवा कंटेनर में आग लगाने के लिए बाहर निकालने का प्रयास करते दिखे. इन्हें पुलिस जाप्ते ने रोक दिया व गोशाला में नहीं घुसने दिया. इससे लोगों में रोष देखने को मिला है. घटना को लेकर गंगरार पुलिस कार्रवाई कर रही है.

http://udaipurkiran.in/hindi

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*