Thursday , 15 November 2018

मातेश्वरी तनोट राय मंदिर में नौ दिवसीय नवरात्र मेला शुरू

जैसलमेर, 11 अक्टूबर (उदयपुर किरण). भारत पाक सीमा पर स्थित प्रसिद्ध शक्ति पीठ मातेश्वरी तनोट राय मंदिर में घट कलश स्थापना के साथ ही नौ दिवसीय नवरात्रा मेला प्रारम्भ हो गया. चमत्कारी मंदिर के नाम से देश भर में विख्यात माता तनोट मंदिर में शारदीय नवरात्र के मौके पर घट स्थापना पर हुए हवन में 139वीं वाहिनी सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों और अन्य उपस्थित श्रृद्धालुओं ने आहुतिया दी. हवन के बाद दोपहर में हुई आरती में दूर दराज से आए बड़ी संख्या में श्रद्धालु शरीक हुए.

सीमावर्ती क्षेत्र में यह मंदिर होने तथा श्रद्धालु की बढ़ती भीड़ को देखते हुए तनोट में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. तनोट मंदिर में सीमा सुरक्षा बल के जवानों के साथ पुलिसकर्मी भी साथ है. तनोट माता को रुमालों वाली माता के नाम से भी जाता है. तनोट माता के प्रति अगाध आस्था रखने वाले श्रद्धालु मंदिर में रुमाल बांध कर मन्नत मांगते है और मन्नत पूरी होने पर रुमाल खोला जाता है. मातेश्वरी तनोट राय मंदिर में प्रतिदिन सीमा सुरक्षा बल के जवानों द्वारा भक्ति भावना और जोश के साथ की जाने वाली आरती अनूठे रंग में नजर आती है. आरती के दौरान श्रद्धालु भक्ति भाव के साथ झूमते नजर आते है. मंदिर में प्रति दिन तीन आरतियां होती हैं.

जन जन की आस्था का केंद्र इस मंदिर परिसर में भारत पाक युद्ध के दौरान पाकिस्तान द्वारा गिराए गए कई बम बिना फटे रहे है, वो माता के चमत्कार के रूप में श्रद्धालु के लिए अचरज बने हुए. सीमा सुरक्षा बल के जवानों की यह मान्यता है की मातेश्वरी तनोट माता उनकी मां की तरह रक्षा कर रही हैं. इसी मान्यता के कारण तनोट माता मंदिर में जवानों द्वारा हर साल नवरात्र पर विशेष आयोजन कर पूजा पाठ किया जाता है. मेले में सुरक्षा व्यवस्था के साथ भोजन व्यवस्था मंदिर प्रांगण में भंडारे के रूप में किए जाने के अतिरिक्त आवास व आराम के लिए धर्मशाला में समुचित व्यवस्था की गई है.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*