Saturday , 20 October 2018

लोगों में कानून का भय हो, पुलिस का नहीं : राष्ट्रपति

नई दिल्ली, 12 अक्टूबर (उदयपुर किरण). राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुनियादी पुलिस सेवा को बेहतर बनाने के लिए शुक्रवार को कहा कि लोगों में कानून का भय होना चाहिए लेकिन पुलिस का नहीं. उन्होंने कहा कि आदर्श पुलिस व्यवस्था वह है, जिसमें व्यक्ति को पुलिस स्टेशन जाए बिना ही पुलिस से उचित सेवा मिलती है.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में 2017 बैच के भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) प्रोबेशनर्स को संबोधित करते हुए कहा कि हमें बुनियादी पुलिसिंग को बेहतर बनाने के लिए सभी जरूरी कदम उठाने होंगे. उन्होंने कहा कि यह एक संवेदनशील और पेशेवर पुलिस बल का प्रतीक है. इससे हमें ऐसे माहौल का निर्माण करने में मदद मिलेगी, जहां नागरिक कानून लागू करने वालों के बजाय कानून से डरते हैं और कानून का सम्मान करते हैं.

कोविंद ने कहा कि आईपीएस हमारे राष्ट्रीय प्रशासनिक तंत्र के स्तंभ में से एक हैं. यह एक ऐसी सेवा भी है, जो हमारे पुलिस बलों में आम नागरिकों के विश्वास को परिभाषित करती है. जनता आईपीएस अधिकारियों को ऐसे अधिकारी के रूप में देखती है, जो कानून के शासन को बनाए रखेंगे और न्याय की रक्षा को सक्षम करेंगे. उन्होंने कहा कि सरकारें आती-जाती हैं लेकिन आप निरंतरता का प्रतिनिधित्व करते हैं और आप संविधान का प्रतिनिधित्व करते हैं.

http://udaipurkiran.in/hindi

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*