Friday , 16 November 2018

सरकारी स्कूलों में प्रसार के लिए ट्विटर अकाउंट जरूरी

डूंगरपुर. शिक्षा विभाग की ओर से नवाचार करते हुए सभी सरकारी स्कूलों का भी ट्विटर अकाउंट बनाना अनिवार्य किया जा रहा है. निजी स्कूलों की तरह अब सरकारी स्कूलों के भी ट्विटर अकाउंट खोले जाएंगे. इसके लिए कवायद शुरू हो गई है. इससे सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों के नामांकन में बढ़ोतरी व स्कूलों की सूचनाएं डीईओ कार्यालय तक भेजी जा सकेंगी. विभाग ने प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों के संस्थाप्रधानों को इसे लेकर निर्देश भी दिए हैं.

ट्विटर पर सरकारी स्कूलों के आने से निजी स्कूलों की तरह व्यापक प्रचार-प्रसार होने के साथ ही सरकारी स्कूलों के संस्थाप्रधान भी टेक्नोलॉजी से जुड़ेंगे. विभाग की इस व्यवस्था का मुख्य उद्देश्य राजकीय विद्यालयों में विद्यार्थियों का नामांकन बढ़ाना, स्कूल की भौतिक व्यवस्था में बदलाव लाना, दूरदराज के स्कूलों की जानकारी आमजन तक पहुंचाना है. अधिकारियों की मानें तो अकाउंट खुलने से किसी भी जगह से कोई भी व्यक्ति सरकारी स्कूलों में होने वाली गतिविधियों व भौतिक सुविधाओं को पता लगा सकेगा.

आमजन भी देख सकेगा स्कूल की पूरी जानकारी : शाला दर्पण, शाला दर्शन, शाला सिद्धि, विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं, लेकिन इस पर स्कूलों की जानकारी विद्यालय के शिक्षक या अधिकारी ही देख सकते हैं. स्कूल का ट्विटर अकाउंट खुलने के बाद आमजन भी स्कूलों की जानकारी ले सकेंगे. अधिकारियों ने बताया कि अब सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों की स्कूल यूनिफार्म में बदलाव, टाई-बेल्ट व आई कार्ड की जानकारी किसी भी जगह से कोई भी व्यक्ति आसानी से ले सकेगा.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*