Wednesday , 14 November 2018

किसानों की मांगों को लेकर आम आदमी पार्टी नेता रामपाल जाट 23 अक्टूबर से जयपुर में करेंगे भूख हड़ताल.

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा के सांसद संजय सिंह ने आज दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में घोषणा की कि अगर वसुंधरा सरकार किसानों के नुकसान की भरपाई नहीं करती है और राजस्थान में फसलों की खरीद तुरंत शुरू नहीं होती है तो पार्टी के वरिष्ठ नेता रामपाल जाट 23 अक्टूबर से जयपुर में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठेंगे.

संजय सिंह ने बताया कि राजस्थान में बाजरे का एमएसपी 1950 रुपए प्रति क्विंटल तय किया गया था और सरकार ने वायदा किया था कि सरकार किसानों के एक-एक दाने की खरीद करेगी पर अब तक सरकार ने एक दाना भी नहीं खरीदा है और किसान बाजरा 13 सो रुपए कुंटल बेचने पर मजबूर है. इससे राजस्थान के किसान बर्बादी के कगार पर पहुंच गए हैं. इसके अलावा सभी ऋणी किसानों से सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत बीमा प्रीमियम जमा करा लिया है लेकिन फसल की भारी बर्बादी होने के बावजूद अब तक एक पैसे की भी भरपाई नहीं हुई है और कोई क्लेम नहीं दिया गया है. यह किसानों के साथ घोर अन्याय है और आम आदमी पार्टी इसके लिए राजस्थान के हर गांव में संघर्ष करेगी. इसके अलावा मूंग उड़द मूंगफली और सोयाबीन की खरीद के लिए अब तक रजिस्ट्रेशन भी शुरू नहीं हुआ है. यह किसानों के साथ भारतीय जनता पार्टी का राजस्थान में धोखा है जिसे किसान किसी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेगा. इन तीन मांगों को लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेता रामपाल जाट 23अक्टूबर से अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करेंगे यह अनशन जयपुर में होगा.

सांसद संजय सिंह ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने राजस्थान में एक ड्राफ्ट घोषणा पत्र जारी कर कहा था कि राजस्थान के सभी वोटर इस घोषणा पत्र में बदलाव के लिए अपने सुझाव भेजें. बहुत से लोगों ने अपने सुझाव आम आदमी पार्टी को भेजे हैं और इन सुझावों को जोड़कर एक फाइनल मेनिफेस्टो तैयार किया जा रहा है. इसके लिए पार्टी के वरिष्ठ नेता रामपाल जाट को मेनिफेस्टो कमेटी का चेयरमैन बनाया गया है. फाइनल मेनिफेस्टो को आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 28 अक्टूबर को जयपुर में होने वाली रैली में रिलीज करेंगे. उन्होंने कहा कि 28 अक्टूबर को जयपुर में आम आदमी पार्टी की ऐतिहासिक रैली हो रही है जिसमें हजारों लोग हिस्सा लेंगे. इस रैली से ऐसा माहौल बनेगा कि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस से लोगों का मोहभंग होगा और दोनों भ्रष्ट पार्टियों का राजस्थान से सफाया हो जाएगा.

एक अन्य विषय पर संजय सिंह जी ने कहा की 31 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्टैचू आफ यूनिटी का उद्घाटन कर रहे हैं इससे बड़ी विडंबना कोई नहीं हो सकती. नरेंद्र मोदी जी ने पूरे देश में नफरत का माहौल खड़ा किया जिससे देश की एकता और अखंडता खतरे में पड़ी है. ऐसा व्यक्ति स्टैचू ऑफ यूनिटी का अनावरण करें इससे बड़ी विडंबना और क्या हो सकती है. उन्होंने कहा कि देश में नरेंद्र मोदी जी की भी एक मूर्ति का अनावरण होना चाहिए जिसका नाम होना चाहिए स्टैचू आफ डिस हारमनी.

उन्होंने कहा कि महापुरुषों का चुनावों के लिए इस्तेमाल एक शर्मनाक परंपरा है जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुरू किया है. 5 वर्ष तक उन्हें आजाद हिंद फौज और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की याद नहीं आई और चुनावी साल में वह आजाद हिंद फौज की स्थापना दिवस का उत्सव मनाने पहुंचे यह शर्म की बात है.

इस मौके पर विधायक सोमनाथ भारती ने अमृतसर रेल हादसे में मारे गए लोगों के प्रति संवेदना प्रकट की और कहा कि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस नेताओं के गैर जिम्मेदार व्यवहार से पूरे देश के लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं. उन्होंने कहा विजय पंजाब की कांग्रेस सरकार और केंद्र की भाजपा सरकार की लापरवाही का नतीजा है जिसे अब नेता अनहोनी का नाम दे रहे हैं. उन्होंने मांग की इस मामले में राष्ट्रपति को एक विशेष टीम गठित कर जांच करानी चाहिए. पत्रकार वार्ता में राजस्थान के प्रभारी दीपक बाजपेई और सह प्रभारी खेमचंद जागीरदार भी मौजूद थे.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*