Friday , 16 November 2018

बीकानेर में करोड़ों का ‘कारोबार’ चार दिन के लिये बंद

बीकानेर, 05 नवम्बर (उदयपुर किरण). दीपावली के मौके पर जहां बाजार में कारोबारी बूम है वहीं हर रोज होने वाला करोड़ों का पर्ची सट्टा कारोबार चार दिन के लिये बंद है. सट्टा बाजार से जुड़े सूत्रों के अनुसार मुम्बई और नागपुर से संचालित होने वाले पर्ची सट्टा कारोबार देशभर में दिवाली की छुट्टियों को देखते हुए चार दिन के लिये बंद है. अब यह कारोबार गुरुवार आठ नवम्बर से ही शुरू होगा.
जानकारी में रहे कि सालभर चलने वाले पर्ची सट्टा कारोबार की जड़े बीकानेर में शहर से लेकर कस्बे तक फैली है. सट्टा कारोबार के जानकारों की मानें तो जिले में प्रतिदिन करीब एक करोड़ रुपये का कारोबार होता है. शहर में होने वाले सट्टे का सरगना बड़ा बाजार का क्रिकेट बुकी है, इसके तार गंगाशहर में बड़े स्तर के सट्टा कारोबारी से जुड़े हैं. ऐसा नहीं है कि सरगना और उसकी देखरेख में शहर में विभिन्न स्थानों पर चल रहे इस अवैध कारोबार में लिप्त लोगों की जानकारी पुलिस को नहीं है, लेकिन पुलिस प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष लाभ के कारण कारोबार को संचालित करने वालों पर हाथ नहीं डालती. पुलिस सट्टा खेलने वाले छोटे-मोटे सटोरियों को गिरफ्तार करती है और कागजी कोरम पूरा कर अपना पल्ला झाड़ लेती है. वैसे तो शहर में कई स्थानों पर सट्टे का कारोबार होता है. लोग बाकायदा कुर्सी मेज डालकर बैठते हैं और सट्टा पर्ची लिखते देखे जा सकते है. जिले में सट्टा कारोबार की जड़ें काफी गहरी हैं. शहर से लेकर देहात इलाकों के छोटे-छोटे कस्बों और नगरों में भी सट्टा कारोबार धड़ल्ले से होता है. सट्टेबाजों में 70 फीसदी युवा पीढ़ी जुड़ी हुई है, जो बर्बादी के कगार पर पहुंच चुकी है. यह कारोबार झगड़ा-फसाद से लेकर बड़े अपराधों को जन्म दे रहा है. अब तक यह शहरों में ही चल रहा था, लेकिन अब यह ग्रामीण इलाकों में अपनी जड़ें जमा चुका है.
एसपी बीकानेर सवाई सिंह गोदारा का कहना है कि समय-समय पर सट्टे के कारोबार पर कार्रवाई पुलिस द्वारा की जाती है. ऐसी बात नहीं है कि पुलिस को सूचना नहीं है लेकिन पुलिस बाकायदा एक जाल बिछाकर कार्रवाई करती है.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*