Wednesday , 14 November 2018

भाजपा से खफा एक अन्य कद्दावर राजपूत नेता कांग्रेस के खेमे में जाने को तैयार

जालोर, 07 नवम्बर (उदयपुर किरण). मानवेन्द्र सिंह के कांग्रेस में जाने का डेमेज कंट्रोल करने की कोशिश कर रही भाजपा को एक अन्य कद्दावर राजपूत नेता के बगावती सुरों ने परेशानी में डाल दिया है. तीन बार के विधायक और स्वर्गीय भैंरोसिंह शेखावत सरकार में मंत्री रहे इस कद्दावर नेता ने कांग्रेस में जाने का पूरा मानस बना लिया है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व उप सचेतक रतन देवासी ने इस बात की पुष्टि की है कि पूर्व मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता अर्जुन सिंह देवड़ा के पार्टी में आने की औपचारिक घोषणा होगी. देवड़ा के कांग्रेस खेमे में जाने से एक तरफ तो मारवाड़ के समीकरण बदलेंगे, साथ ही रानीवाड़ा की सीट पर जहां से वे विधायक रहे हैं, भाजपा के संभावित उम्मीदवारों पर भी हार का खतरा मंडरा सकता है.

रानीवाड़ा विधानसभा से पूर्व में तीन बार विधायक रहे अर्जुन सिंह देवड़ा भैंरोसिंह सरकार में राज्य मंत्री व बीसूका उपाध्यक्ष भी रह चुके है. अर्जुन सिंह रानीवाड़ा में भाजपा के पास एक बड़ा चेहरा रहे हैं, लेकिन चुनाव से ठीक पहले भाजपा का दामन छोड़ कर कांग्रेस में शामिल होने की खबर ने सबको हैरानी में डाल दिया है. देवड़ा की गिनती कद्दावर राजपूत नेताओं में की जाती है. मारवाड़ में जसोल से जसवंत सिंह परिवार और शेखावत के बाद तीसरा बड़ा राजपूत नेता देवड़ा को माना जाता है. इससे पहले 2008 के चुनावों में भाजपा ने टिकट काट कर अर्जुन सिंह की जगह नारायण सिंह देवल को टिकट दी थी, तब उन्होंने बगावती सुर अपनाते हुए निर्दलीय चुनाव लड़ा था. इसके बाद 2013 के चुनावों में वसुंधरा राजे ने उन्हें फिर से भाजपा ज्वॉइन कराई थी.

देवड़ा ने कुछ दिन पूर्व अपने विश्वस्त कार्यकर्ताओं का एक सम्मेलन बुलाया था, जिसमें उन्होंने भाजपा के कई नेताओं पर गंभीर आरोप लगाए थे. देवड़ा ने टिकट देने में पक्षपात करने, योग्य उम्मीदवारों का चयन नहीं करने व भाजपा के कार्यकर्ताओं को तवज्जों नहीं देने जैसे आरोप भाजपा के पदाधिकारियों पर लगाए थे. लेकिन भाजपा के पदाधिकारी एक भी खुल कर बोलने के लिए सामने नहीं आए. ना ही देवड़ा की नाराजगी दूर करने की समय रहते कोशिश की गई. इसकारण देवड़ा ने फाइनल कांग्रेस में जाने का मन बना लिया है. अब जल्द ही कांग्रेस के प्रदेश स्तर के नेताओं के सामने देवड़ा जल्द ही कांग्रेस का दामन थाम लेंगे.

पायलट से मिल चुके हैं देवड़ा

बीते चार साल में भाजपा में ज्यादा तवज्जो नहीं मिलने के कारण बीजेपी से नाराज चल रहे देवड़ा ने कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट से मुलाकात भी की थी. इसके बाद अब सारे कयासों पर विराम लगाते हुए उन्होंने कांग्रेस में जाने का मन बना लिया है और इसकी पुष्टि भी हो गई है. राजनीति में काफी वजूद रखने वाले भाजपा नेता देवड़ा अगर भाजपा का दामन छोड़ कर कांग्रेस के साथ जाते हैं तो यकीनन इससे कांग्रेस को रानीवाड़ा विधानसभा सहित जिलेभर की सीटों पर मजबूती मिलेगी. रानीवाड़ा से विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के संभावित उम्मीदवार रतन देवासी की जीत भी काफी आसान हो जाएगी.

माना जा रहा है कि अर्जुनसिंह देवड़ा के कांग्रेस में शामिल होने के बाद पार्टी उन्हें लोकसभा चुनावों में जालोर सीट से मौका दे सकती है. जालोर लोकसभा सीट से बूटा सिंह के बाद से कांग्रेस के पास कोई मजबूत दावेदार भी नहीं रहा है. यही वजह है कि भाजपा के देवजी पटेल आसानी से सीट निकाल ले गए. देवजी को कमजोर करने के लिए कांग्रेस अर्जुनसिंह देवड़ा को स्थानीय होने के साथ भाजपा के कद्दावर नेता होने के कारण मैदान में उतार सकती है. अगर ऐसा होता है तो भाजपा के लिए लोकसभा सीट में भी मुश्किलें खड़ी हो सकती है.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*