Tuesday , 11 December 2018
अब जयपुर की बजाय हिसार कैंट से मिलेगा कैंटीन को सामान

अब जयपुर की बजाय हिसार कैंट से मिलेगा कैंटीन को सामान

जींद, 06 दिसम्बर (उदयपुर किरण). डीआरडीए के पास की सैनिक कैंटीन में सामान लेने आने वाले लोगों को अब परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा. अब सैनिक कैंटीन को जो सामान पहले जयपुर कैंट से सप्लाई होता था अब वह हिसार कैंट से सप्लाई होगा. जयपुर कैंट से हिसार कैंट से जींद की सप्लाई को लेकर ट्रांसफर की प्रक्रिया चली हुई है, जो कि शीघ्र ही पूरी होगी. ऐसे में कैंटीन को सामान की सप्लाई भी शीघ्र मिला करेगी. पिछले एक सप्ताह से भी ज्यादा समय से ईएसएम कैंटीन में सैनिकों और उनके आश्रितों को घरेलू सामान उपलब्ध नहीं हो पा रहा है. हालांकि सामान लेने के लिए पूर्व सैनिक, सैनिक और उनके आश्रित आए दिन कैंटीन पहुंचते हैं लेकिन उन्हें सामान नहीं मिल पाता है.

इसके पीछे कारण एक सप्ताह से कैंटीन को सामान उपलब्ध नहीं होना है. ईएसएम कैंटीन जींद में पहले जो सामान कैंटीन में आता था वह जयपुर कैंट से आ रहा था लेकिन अब यह सामान हिसार कैंट से आना है. इसके कारण कुछ समय के लिए सामान बेचना बंद कर दिया गया था. हालांकि पिछले दो दिनों से कैंटीन में शराब मिलनी शुरू हो गई है और जल्द ही घरेलू सामान भी मिलना शुरू हो जाएगा. जयपुर कैंट से हिसार कैंट में जो ट्रांसफर की प्रक्रिया चली हुई है उसमें स्टॉक चेकिंग और प्रक्रिया पूरी होने में कुछ समय लगता है. इसके कारण कैंटीन में कार्ड धारकों को सामान उपलब्ध नहीं हो रहा है और अब जल्द ही यह सारी प्रक्रिया अंतिम चरण में है.


कैंटीन के मैनेजर कर्नल ओमप्रकाश ने बताया कि ईएसएम कैंटीन जींद में पहले जो सामान कैंटीन में आता था वह जयपुर कैंटर से आ रहा था लेकिन अब जल्द ही यह सामान हिसार कैंट से आने लगेगा. इसके कारण कुछ समय के लिए सामान बेचना बंद कर दिया गया है. जयपुर कैंट से हिसार कैंट में जो ट्रांसफर की प्रक्रिया चली हुई है उसमें स्टाक चेकिंग और प्रक्रिया पूरी होने में कुछ समय लगता है. इसके कारण कैंटीन में कार्ड धारकों को सामान उपलब्ध नहीं हो रहा है और अब जल्द ही यह सारी प्रक्रिया अंतिम चरण में है. हालांकि पिछले दो दिनों से कैंटीन में शराब मिलनी शुरू हो गई है और जल्द ही घरेलू सामान भी मिलना शुरू हो जाएगा.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*