Saturday , 27 November 2021
अरुणाचल: चीन से तनावपूर्ण संबंधों के बीच भारत ने शुरू किया अडवांस्‍ड लैंडिंग ग्राउंड

अरुणाचल: चीन से तनावपूर्ण संबंधों के बीच भारत ने शुरू किया अडवांस्‍ड लैंडिंग ग्राउंड

ईटानगर.चीन के साथ तनावपूर्ण संबंधों के बीच भारत ने अरुणाचल प्रदेश में एक और अडवांस्‍ड लैंड‍िंग ग्राउंड को बुधवार को शुरू कर दिया. चीन और म्‍यांमार की सीमा से सटे विजयनगर अडवांस्‍ड लैंड‍िंग ग्राउंड पर पूर्वी क्षेत्र के एयर कमांडर एयर मार्शल आरडी माथुर और भारतीय सेना के पूर्वी क्षेत्र के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट एन-32 से लैंड कर इसकी शुरुआत की.
अरुणाचल प्रदेश में सैन्‍य आधारभूत ढांचे को बढ़ावा देने के उद्देश्‍य से 8 अडवांस्‍ड लैंड‍िंग ग्राउंड बनाए गए हैं जिनमें विजयनगर अडवांस्‍ड लैंड‍िंग ग्राउंड भी एक है. दो इंजनों वाले एन-32 विमान ने करीब 3 साल के अंतराल के बाद विजय नगर हवाई पट्टी पर लैंड किया है. विजयनगर देश से पूरी तरह से कटा हुआ था और इस बेहद दुर्गम इलाके में सड़क नहीं होने की वजह से यहां तक पहुंचना संभव नहीं था.
डोका ला पास के पास एक सड़क बनाई जा रही थी जिसका भारतीय सेना ने विरोध किया था और काम को रुकवा दिया था. इसके बाद केंद्र सरकार ने रक्षा उद्देश्‍यों की पूर्ति के लिए इस हवाई पट्टी को विकसित करने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया. राज्‍य में 8 अडवांस्‍ड लैंड‍िंग ग्राउंड की मरम्‍मत कर उनको अपडेट किया जा रहा है जिस पर करीब 1 हजार करोड़ रुपये का खर्च आएगा.
इससे पहले भारत ने पासीघाट अडवांस्‍ड लैंड‍िंग ग्राउंड को शुरू किया था. विजयनगर अडवांस्‍ड लैंड‍िंग ग्राउंड अरुणाचल प्रदेश के चांगलांग जिले में स्थित है. भारत के विपरीत चीन ने अपनी सीमा तक चार पहिया वाहन ले जाने लायक सड़क बना ली है. यही नहीं चीन ने डोकलाम विवाद के बाद अपनी सैन्‍य उपस्थिति को भी इस इलाके में मजबूत किया है.