Monday , 26 July 2021
“आओ घर में सीखें” कार्यक्रम के प्रभावी प्रबोधन हेतु निदेशक, आरएससीईआरटी का उदयपुर के विद्यालयों का अवलोकन किया

“आओ घर में सीखें” कार्यक्रम के प्रभावी प्रबोधन हेतु निदेशक, आरएससीईआरटी का उदयपुर के विद्यालयों का अवलोकन किया

राजस्थान (Rajasthan)राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद उदयपुर (Udaipur) के एसोसिएट प्रोफेसर कमलेन्द्र सिंह राणावत ने बताया कि “आओ घर में सीखें” कार्यक्रम के प्रभावी प्रबोधन हेतु सु प्रियंका जोधावत निदेशक, राजस्थान (Rajasthan)राज्य शैक्षिक प्रशिक्षण एवं अनुसंधान परिषद ने निरीक्षण के तीसरे दिन उदयपुर (Udaipur) के रा. बालिका उ. मा. विद्यालय, रेजीडेंसी, रा. गुरु गोविंद सिंह उ. मा. विद्यालय, उदयपुर (Udaipur)  का अवलोकन किया.
रा. गुरु गोविंद सिंह उ. मा. विद्यालय, उदयपुर (Udaipur) में अवलोकन के दौरान शाला दर्पण पर स्माईल मॉड्यूल की प्रविष्टिया संतोषजनक, विद्यार्थियों की वर्कशीट एवं पोर्टफोलियो संधारण व्यवस्थित, 70% विद्यार्थी ऑनलाइन शिक्षण से जुड़े पाए जिसमें अधिकांश विद्यार्थी शिक्षावाणी एवं शिक्षादर्शन से भी लाभान्वित हो रहे है. विद्यालय के बोर्ड परीक्षा 10 व 12 के लिए विषय समितियों व रिकार्ड की वस्तुस्थिति की जांच की.

निदेशक द्वारा रा. बालिका उ. मा. विद्यालय, रेजीडेंसी के निरीक्षण के दौरान बड़ी संख्या में बालिकाएं उपस्थित थी अतः कोरोना प्रोटोकॉल प्रभावी पालना सुनिश्चित करने को निर्देशित किया. अवलोकन में आवश्यक आकड़ो एवं रिकॉर्ड की उपलब्धता, विद्यार्थियों के साप्ताहिक क्विज, ई कक्षा, पोर्टफोलियो,वाट्स एप ग्रुप आदि का रिकार्ड संधारण के लिए मार्गदर्शन प्रदान किया गया. रेजीडेंसी विद्यालय में निरक्षण के दौरान पायी कमियों को दूरस्त करने के लिए मौके पर उपस्थित सयुक्त निदेशक, स्कूल शिक्षा उदयपुर (Udaipur) धर्मेंद्र जोशी को दो विभागीय प्रतिनिधियों को लगा समन्वय कर  एक सप्ताह के अंदर सुधार के प्रभावी प्रबोधन हेतु निर्देशित किया.

निदेशक ने विद्यालयों में “आओ घर में सीखें” कार्यक्रम के माध्य्म से ऑनलाइन शिक्षा को जनजाति व सुदूर ग्रामीण क्षेत्र में बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रभावी प्रबोधन के साथ संस्था प्रधानों तथा विद्यालय स्टाफ को समुचित सम्बलन प्रदान करने, समाज व अभिभावकों में सकारात्मक विश्वास संबलन प्रदान किया. उन्होंने कहा कि अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद के साथ राज्य सरकार (State government) के दक्ष अधिकारियों व शिक्षाविदों द्वारा तैयार विषय वस्तु ऑनलाइन माध्यम से हर गाँव – ढाणी तक पहुचे एवं शिक्षा वाणी, शिक्षा दर्शन, हवामहल कार्यक्रम का प्रभावी क्रियान्वयन हो इसके लिए हम सब मिल कर प्रयास करे. निदेशक महोदया के विद्यालयों निरीक्षण के दौरान शिवजी गौड़ सयुक्त निदेशक, आरएससीईआरटी, धर्मेंद्र जोशी सयुक्त निदेशक स्कूल शिक्षा, उदयपुर (Udaipur), एसोसिएट प्रोफेसर कमलेन्द्र सिंह राणावत आदि उपस्थित थे.