Monday , 18 October 2021

आडवाणी ने रथयात्रा नहीं निकाली होती तो आज भगवान राम का यह सम्मान नहीं होता : कटारिया


जयपुर (jaipur) . विवादित टिप्पणियों के लिए अक्सर सुर्खियों में रहने वाले भाजपा नेता गुलाबचंद कटारिया एक बार फिर अपने बयान की वजह से चर्चा में हैं. हाल ही में उन्होंने कहा था कि अगर भाजपा नहीं होती तो भगवान राम समुद्र में होते. इस बयान पर कांग्रेस के विरोध के बाद कटारिया ने अपने बयान पर सफाई दी. सफाई में कटारिया ने कहा अगर लालकृष्ण आडवाणी रथयात्रा नहीं निकालते तो भगवान राम का वैसा सम्मान नहीं होता, जैसा आज हो रहा है. राम मंदिर (Ram Temple) भी नहीं बन पाता. कांग्रेस ने कटारिया के बयान पर फिर आपत्ति जताई है.

कटारिया ने दो दिन पहले एक सामुदायिक भवन के उद्घाटन के दौरान कहा था कि अगर भाजपा नहीं होती तो भगवान राम समुद्र में होते. सड़क नालियां तो बन जाएंगी, अगर देश नहीं बचा तो भगवान आपको कोसेंगे. इस बयान पर कांग्रेस ने कटारिया पर हमला बोला और कहा कि कटारिया भाजपा को भगवान राम से बड़ा बता रहे हैं. कांग्रेस ने भाजपा से कटारिया के बयान पर जबाब मांगा था कि क्या कटारिया के बयान से वह सहमत है.

कटारिया के इस बयान पर कांग्रेस की आपत्ति के बाद कटारिया ने कहा अगर लालकृष्ण आडवाणी रथयात्रा नहीं निकालते तो भगवान राम का आज यह सम्मान नहीं हो पाता और मंदिर भी नहीं बन पाता. कटारिया ने कहा राम को लेकर दिया गया बयान उनकी पीड़ा थी कि अगर भाजपा आंदोलन नहीं करती तो राम को सम्मान नहीं मिल पाता. इसके पीछे भगवान राम का अपमान करना उनका मकसद नहीं था. बहरहाल इस पर राजनीतिक बयानबाजी जारी है.