Sunday , 24 June 2018

इंडियन एथलीट्स का नहीं बना मान्यता कार्ड

नई दिल्ली:यह भले ही सुनने में अजीब सा लगे लेकिन भारत के ट्रैक एवं फील्ड के कई एथलीटों को मुंह खुला रखकर मुस्कराते हुए फोटो खिंचवाना महंगा पड़ा क्योंकि आगामी एशियाई खेलों के लिये आयोजकों ने उनके मान्यता कार्ड बनाने से इनकार कर दिया. भारतीय ओलंपिक संघ ने 19 एथलीटों और दो अधिकारियों से तुरंत उचित प्रारूप में अपने नए फोटो भेजने के लिये कहा है ताकि मान्यता कार्ड बनाने की प्रक्रिया फिर से शुरू की जा सके. मान्यता कार्ड बनवाने के लएये आवेदन करने की समयसीमा समाप्त हो चुकी है लेकिन आईओए को उम्मीद है कि गलती में सुधार कर दिए जाने पर आयोजक इन मामलों पर गौर करेंगे. एथलेटिक्स महासंघ के अधिकारियों ने कहा कि एशियाई खेलों के लिए मान्यता कार्ड के लिये फोटो और पासपोर्ट को अपलोड करने के संबंध में कड़े दिशानिर्देश हैं.
कोई मुस्कुरा रहा था तो किसी के दिख रहे थे दांत
एएफआई के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘आईओए ने हमें मान्यता कार्ड तैयार करने की प्रक्रिया के संबंध में कड़े दिशानिर्देश भेजे थे. यह भले ही अजीब सा लगे लेकिन आयोजकों ने असल में निर्देश दिए थे कि आपकी फोटो मुस्कराते हुए नहीं होनी चाहिए तथा आप अपने दांत दिखाते हुए फोटो नहीं खींच सकते. इसके अलावा खिलाड़ी के पीछे का हिस्सा (बैकग्राउंड) सफेद होना चाहिए.’ इन 19 एथलीटों में जो सबसे बड़ा नाम है वह महिलाओं की 400 मीटर दौड़ में मौजूदा चैंपियन और रियो ओलंपियन निर्मला शेरोन हैं, जिनके ठिकाने का एएफआई को पिछले कुछ समय से पता नहीं है. उनका फोटो इसलिये नामंजूर कर दिया गया क्योंकि पीछे का हिस्सा सफेद नहीं था.
एथलीट्स को पहले ही दिया गया था निर्देश
अधिकारी ने कहा, ‘हमने पहले ही एथलीट्स को बता दिया था कि मान्यता कार्ड के लिए फोटो भेजते समय क्या करना है और क्या नहीं करना है. अब वे परेशानी झेल रहे हैं क्योंकि उन्होंने इन निर्देशों पर गौर नहीं किया.’ केरल के 400 मीटर के धावक सचिन रोबी को फिर से फोटो भेजने के लिये कहा गया क्योंकि पहली वाली फोटो में उनके दांत दिख रहे थे. राजस्थान की हिना (100 मीटर) और सयाली वाघमारे (400 और 800 मीटर) के साथ भी ऐसा ही मामला था. बंगाल की हिमाश्री राय का मान्यता कार्ड इसलिए नहीं बनाया गया क्योंकि उन्होंने जो फोटो भेजी थी उसमें वह मुस्करा रही थी. उन्हें अब फिर से फोटो भेजनी होगी. एएफआई ने 150 से अधिक एथलीटों के नाम मान्यता कार्ड के लिये भेजे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*