Sunday , 28 November 2021
इजरायल चुनाव में कांटे की टक्कर : एक्जिट पोल

इजरायल चुनाव में कांटे की टक्कर : एक्जिट पोल

येरूसलम.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्के दोस्त इजराइल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू चुनाव हारते दिख रहे हैं. एक्जिट पोल पर यकीन करें तो देश में लंबे समय तक रहे प्रधानमंत्री नेतन्याहू बहुमत से काफी पीछे हैं. वह पांचवीं बार सत्ता में वापसी का प्रयास कर रहे हैं. वहीं अगर एक्जिट पोल ठीक साबित होता है तो सरकार गिर सकती है. मगर अभी भी कोई स्पष्ट विजेता नहीं दिख रहा है.बताया जा रहा है कि चुनाव प्रचार के दौरान नेतन्याहू ने अपने साथ पीएम मोदी वाले पोस्टर कई जगहों पर लगवाए थे.
संयुक्त राष्ट्र में इजराइल के समर्थन में भारत ने किया मतदान, पुराने रुख में दिखा बदलाव
बता दें इस चुनाव में दक्षिणपंथी लिकुड पार्टी के नेता और इजराइल के सबसे लंबे कार्यकाल वाले प्रधानमंत्री नेतन्याहू का मुकाबला कर रहे हैं. पूर्व सैन्य प्रमुख बेंजामिन ‘बेनी’ गांत्ज मुकाबले में खड़े हैं. यह ब्ल्यू एंड व्हाइट पार्टी से हैं. बीते कई बरसों में नेतन्याहू के वह सबसे मजबूत प्रतिद्वंद्वी हैं. गांत्ज ने अपना वोट डालने के दौरान भी देश से भ्रष्टाचार और चरमपंथ को खारिज करने की अपील की थी. गांत्ज ने कहा था कि वह नई उम्मीद के साथ सरकार चलाना चाहते हैं. वे आज बदलाव के लिए वोट डाल रहे हैं.
नेतन्याहू की पार्टी 55-57 सीटें जीतते हुए दिख रहे हैं, वहीं उनके साथ कांटे की टक्कर करने वाले गांत्ज भी 120 सदस्यों वाली पार्टी संसद में 61 सीटों पर जीती दिख रही है. चुनाव आयोग के अनुसार 69.4 फीसदी लोगों ने इस बार मतदान है. एविगडर लीबरमैन जो पहले नेतन्याहू के नेतृत्व वाली सरकार में विदेश और रक्षा मंत्री भी रहे चुके हैं. वह भी नेतन्याहू के खिलाफ खड़े हैं. एग्जिट पोल के अनुसार वह किंगमेकर के रूप में उभरे हैं.