Sunday , 28 November 2021
उत्तराखंड: डेंगू को लेकर राजभवन सक्रिय, सरकार से रिपोर्ट तलब

उत्तराखंड: डेंगू को लेकर राजभवन सक्रिय, सरकार से रिपोर्ट तलब

देहरादून.राज्य में डेंगू मरीजों की बढ़ती संख्या को लेकर राजभवन ने गहरी चिंता जताई है. राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने सचिव स्वास्थ्य नितेश झा और महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ आरके पांडेय को राजभवन तलब कर प्रदेश में डेंगू की स्थिति और अब तक की कार्रवाई की जानकारी ली. राज्यपाल ने निर्देश दिए कि डेंगू पीड़ितों का पूरा ध्यान रखा जाए और उनके उपचार में कोई कोताही न बरती जाए. डेंगू टेस्ट के लिए निजी पैथालॉजी लैबों में लिए जाने वाले शुल्क और उनकी जांच रिपोर्ट की गुणवत्ता पर नजर रखी जाए. उन्होंने सरकारी स्तर पर अधिक से अधिक मुफ्त जांच केंद्र स्थापित करने या मुफ्त जांच की व्यवस्था करने के निर्देश दिए. उन्होंने निजी लैब की जांच रिपोर्ट में डेंगू पाए जाने पर उसका मानदंडों के अनुरूप सत्यापन करने के निर्देश भी दिए. ताकि लोगों में अनावश्यक भय और चिंता का माहौल न बने.
डेंगू पर राजभवन की सक्रियता से शासन में हड़कंप है. राजभवन पहुंचे सचिव स्वास्थ्य नितेश झा ने राज्यपाल को बताया कि डेंगू के निदान तथा रोकथाम के लिए सभी आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं. डेंगू रोग के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए देहरादून जिले में तीन वनैनीताल में एक अतिरिक्त निशुल्क जांच केंद्र स्थापित किया गया है. देहरादून में 100 टीमें बनाकर घर-घर जाकर डेंगू रोग को रोकने व जन जागरूकता की कार्रवाई की जा रही है. नैनीताल जिले के डेंगू प्रभावित हल्द्वानी शहरी एवं मोटाहल्दू क्षेत्र में विभाग द्वारा 326 आशा, 41 एनएनएम, 23 आशा फैसीलीटेटर, 2 ब्लॉक आशा कोर्डिनेटर एवं 10 सुपरवाईजर की टीमें बनाकर इन्दिरानगर, जवाहर नगर, बनफूलपुरा, डहरिया के 36320 घरों में जाकर डेंगू के लार्वा पनपने के स्थानों को नष्ट कर लोगों को जागरूक किया गया.