Thursday , 13 May 2021
कोविड प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना करना जरूरी : अशोक गहलोत

कोविड प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना करना जरूरी : अशोक गहलोत


जयपुर (jaipur) . मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से ऑक्सीजन आपूर्ति, दवाओं की उपलब्धता, कोविड संक्रमण और महामारी (Epidemic) रेड अलर्ट-जन अनुशासन पखवाड़े को लेकर समीक्षा करते हुए प्रदेश में कोविड के लगातार बढ़ते एक्टिव केसेज को देखते हुए मेडिकल ऑक्सीजन का आवंटन बढ़ाए जाने के लिए केंद्र सरकार (Central Government)से लगातार समन्वय बनाए रखने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार (Central Government)के माध्यम से आयात किए जा रहे ऑक्सीजन परिवहन के टैंकरों में से राजस्थान (Rajasthan)को जरूरत के मुताबिक टैंकर उपलब्ध कराने के लिए भी पुरजोर पैरवी करने के निर्देश दिए है.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा है कि जीवन रक्षा के लिए कोविड प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना कराना बहुत जरूरी है. उन्होंंने कहा कि बढ़ते संक्रमण के कारण राज्य में ऑक्सीजन की खपत तेजी से बढ़ रही है. चूंकि केंद्र सरकार (Central Government)नेशनल प्लान के तहत ऑक्सीजन का आवंटन कर रही है, ऐसे में राजस्थान (Rajasthan)की आवश्यकता को देखते हुए आवंटन की मात्रा बढ़ाया जाना बेहद जरूरी है. उन्होंने कहा कि जामनगर प्लांट में ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता में 350 मैट्रिक टन की अतिरिक्त बढ़ोतरी हुई है. ऐसे में राजस्थान (Rajasthan)को वहां से अतिरिक्त ऑक्सीजन का आवंटन मिले. बैठक में बताया गया कि केंद्र सरकार (Central Government)द्वारा विभिन्न कम्पनियों के माध्यम से करीब 50 टैंकर आयात किए जा रहे हैं. गहलोत ने कहा कि राज्य को ऑक्सीजन उठाव के लिए भारत सरकार ने पर्याप्त संख्या में टैंकर उपलब्ध नहीं कराए हैं, इसके चलते दूरस्थ स्थानों से ऑक्सीजन के परिवहन को लेकर काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

ऐसे में आयात होने वाले टैंकरों से राजस्थान (Rajasthan)को भी जरूरत के मुताबिक टैंकरों का आवंटन किए जाने के लिए मजबूती से प्रयास करें. उन्होंने निर्देश दिए कि नेशनल प्लान के तहत प्रदेश को आवंटित ऑक्सीजन की पूरी मात्रा का तत्काल उठाव सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों को जिम्मेदारी दी जाए. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने ऑक्सीजन कॉन्सनटे्रटर की जल्द से जल्द खरीद करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि विदेशों से इनका आयात करने के लिए गठित अधिकारियों की कमेटी प्रक्रिया को तेज करे, ताकि कोविड रोगियों के उपचार में मदद मिले. गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार (State government) अपने तमाम प्रयासों से कोविड रोगियों को बेहतर उपचार उपलब्ध करवाने के लिए जुटी है, लेकिन संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए जनता की भागीदारी भी उतनी ही जरूरी है.