Saturday , 11 July 2020

गंगा के किनारे 1260 हेक्टेअर भूमि में होगी जैविक खेती- जिलाधिकारी

 जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कलेक्टेªट स्थित सम्राट उदयन सभागार में जैविक खेती को बढ़ावा देने के संबंध में बैठक आयोजित की गयी. बैठक में भूमि संरक्षण अधिकारी के द्वारा बताया गया कि गंगा के किनारे स्थित कड़ा, सिराथू एवं मूरतगंज ब्लॉकों के अन्तर्गत कुल 1260 हेक्टेअर क्षेत्रफल में जैविक खेती का प्रस्ताव रखा गया है, जैविक खेती की योजना 03 वर्ष तक चलेगी. इस योजना के अन्तर्गत प्रत्येक कृषक को प्रथम वर्ष रूपये 12080 प्रति हेक्टेअर में रवी एवं खरीफ दोनो फसलों के लिए अनुदान दिया जायेगा. इसी तरह द्वितीय वर्ष रूपये 10000 प्रति हेक्टेअर एवं तृतीय वर्ष में रूपये 9000 प्रतिवर्ष के हिसाब से जैविक खेती करने वाले कृषकों को प्रोत्साहन राशि के रूप में अनुदान दिया जायेगा. बैठक में जिलाधिकारी ने कृषि विभाग एवं भूमि संरक्षण विभाग को जैविक खेती को बढ़ावा देने हेतु लोगों को जागरूक करनें के लिए कहा है. साथ ही साथ उन्होने जैविक खेती के लिए रवी एवं खरीफ की दोनो फसलों में दिये जाने वाले प्रोत्साहन अनुदान राशि का भी  अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार कराये जाने के लिए कहा है जिससे कि लोगों को अनुदान के बारे में जानकारी हो सके एवं लोग जैविक खेती को बढ़ावा देने की दिशा में अग्रसर हो सकें. इस अवसर पर मुख्य विका अधिकारी श्री इन्द्रसेन सिंह, जिला विकास अधिकारी श्री विजय कुमार एवं भूमि संरक्षण अधिकारी सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे.