Monday , 25 June 2018

ट्रंप ने अमेरिकी मीडिया को देश का सबसे बड़ा दुश्मन बताया

वाशिंगटन:अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज कहा कि फर्जी खबर अमेरिका की सबसे बड़ी दुश्मन हैं. ट्रंप ने उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ अपनी ऐतिहासिक शिखर वार्ता में हुए समझौते को कमतर करने का प्रयास करने के लिए कुछ अमेरिकी मीडिया घरानों पर निशाना साधा.
ट्रंप ने किम के साथ गत मंगलवार को सिंगापुर में मुलाकात की थी. दोनों नेताओं ने वहां अस्पष्ट शब्दों वाले एक समझौते पर हस्ताक्षर किये जिसकी देश में कई ने आलोचना की है. ट्रंप ने वाशिंगटन लौटने के बाद घोषणा की कि उत्तर कोरिया अब अमेरिका के लिए कोई परमाणु खतरा नहीं है.
आलोचकों को मानना है कि उत्तर कोरियाई नेता से मुलाकात करने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने किम की प्रशंसा की और युवा तानाशाह नेता को वैधता प्रदान की.
72 वर्षीय ट्रंप ने सिंगापुर में एक लंबे संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करने के बाद मीडिया पर हमला बोला. उन्होंने नाराज होकर किये गए अपने ट्वीट में एनबीसी और सीएनएन का उल्लेख किया.
ट्रंप ने लिखा कि फर्जी खबरें विशेष तौर पर एनबीसी और सीएनएन को देखना कितना हास्यास्पद होता है. उन्होंने कहा कि 500 दिन पहले वे इस समझौते के लिए इस तरह गुहार लगा रहे होते मानो युद्ध छिड़ने वाला है. हमारे देश की सबसे बड़ी दुश्मन फर्जी खबरें हैं जिन्हें मूर्ख आसानी से गढ़ लेते हैं.
ट्रंप ने यह ट्वीट सीएनएन के व्हाइट हाउस के प्रमुख संवाददाता जिम अकोस्टा पर अपने अधिकारियों द्वारा निशाना साधने के बाद किया. ट्रंप के अधिकारियों ने अकोस्टा पर निशाना सिंगापुर में शिखर वार्ता में समझौते पर हस्ताक्षर करने के दौरान किम और ट्रंप से सवाल पूछने को लेकर साधा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*