Saturday , 11 July 2020

तालाब पटान की सूचना पर दौड़े अफसर, काम रुकवाकर जेसीबी को किया पुलिस के हवाले

पीलीभीत. रामलीला मैदान के पास बनी गोशाला के नजदीक तालाब पटान की सूचना से हडकंप मच गया है. शहर की परिधि में ही मंडी के नजदीक तालाब के पास किए जा रहे पटान से प्रशासनिक अमले में भी खलबली मच गई. आनन फानन में तहसीलदार समेत एसडीएम भी मौके पर पहुंचे और तत्काल पुलिस को बुला कर काम रुकवा दिया गया. पुलिस ने जेसीबी को कब्जे में लिया है. आसाम हाईवे से सटी मंडी समिति के पास से गुजरने वाली रामलीला मैदान की सड़क के पास ही तालाब पटान का मामला संज्ञान में आया. इसके बाद आनन फानन में प्रशासनिक अफसरों को इसकी जानकारी दी गई. तहसीलदार विवेक मिश्रा और उपजिलाधिकारी अविनाश चंद्र मौर्य तत्काल मौके पर पहुंचे और यहां पानी भरे तालाब के पास ही मिट्टी आदि से पटान का मंजर देखा. अफसर भी आसाम चैकी से चंद कदम की दूरी पर यह पटान देख कर दंग रह गए. तत्काल काम को रोक दिया गया. इस बाबत पुलिस को जानकारी दी गई तब दौड़ी दौड़ी पुलिस वहां पहुंची. उससे पहले पुलिस को कोई जानकारी नहीं थी. अफसरों के निर्देश पर पुलिस ने जेसीबी को जब्त कर लिया और काम पर सख्ती से रोक लगा दी. माना जा रहा है कि शहर में ही रामलीला रोड पर बगैर किसी मिलीभगत के इस तरह से पटान नहीं किया जा सकता है. लोगों की जुबां पर चर्चा है कि भूमाफिया बेलगाम है और इन पर सख्ती की जानी चाहिए. रामलीला मैदान रोड पर हो रहे पटान मामले से जुड़ी वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. शहर की ही परिधि में बेखौफ होकर भू-माफियाओं द्वारा बेशकीमती जमीन पर नजर रख कर अपना काम किया जा रहा है. हांलाकि तालाब पटान के मामले में अभी दस्तावेज और फर्द आदि का रिकॉर्ड दिखवाया जा रहा है. जानकारी मिली थीं, हम मौके पर गए भी थे. पर तालाब पटान का काम चल रहा था. पर इसके दस्तावेज ही सही जानकारी दे पाएंगे. फिलहाल कागज आदि निकलवाए गए हैं ताकि सच्चाई सामने आए. फिलहाल काम पर सख्ती से रोक लगा दी गई है. जेसीबी को भी पुलिस के हवाले करा दिया गया है.