Friday , 13 December 2019
दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रोबोटिक सर्जरी की शुरूआत!

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रोबोटिक सर्जरी की शुरूआत!

भारत के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के तहत सफदरजंग अस्पताल, भारत सरकार का यह पहला अस्पताल है जहां सभी गरीब मरीजों के लिए मुफ्त उन्नत रोबोट सर्जरी सुविधा शुरू की गई है. रोबोटिक सर्जरी का फायदा यह है कि इसमें सर्जरी के समय कम से कम भाग पर चीरा लगाया जाता है, गम्भीर रूप से कैंसर और किडनी फेलयर बीमार मरीजों की अस्वस्थता और मृत्यु के मामलों में काफी कमी आती है. रोबोटिक प्रणाली में 7 डिग्री की फ्रीडम, थ्री डी का दृश्य, प्रभावित भाग का दस गुणा बड़ा आकार और अधिक शुद्धता से बेहतर सर्जरी के लिए आसानी से प्रभावित स्थान पर विच्छेदन किये जाने के सभी फायदे हैं.

आप्रेशन करने के समय में भी कमी आती है और मरीज इस सुविधा के कारण विश्वास के साथ सर्जरी के लिए आते हैं. इसके अलावा सर्जरी कराने के इच्छुक मरीजों की प्रतीक्षा सूची कम होती जाती है. पहले ही सफदरजंग अस्पताल और वर्धमान महावीर मेडिकल कालेज के यूरोलाजी और रेनल ट्रांसप्लांट विभाग के अध्यक्ष डा. अनूप कुमार ने प्रोस्टेट, किडनी, ब्लैडर कैंसर और उन्नत रिकन्स्ट्रक्टीव सर्जरी समेत 25 सर्जरी, रोबोटिक सर्जरी के माध्यम से सफलतापूर्वक की हैं.

सफदरजंग अस्पताल के पास विशेष 21 माड्यूलर आप्रेशन थियेटर हैं जिनमें दो विशेष 24X7 रेनल ट्रांसप्लांट आप्रेशन थियेटर और किडनी फेलियर और यूरोलाजी कैंसर के मरीजों के लिए एक विशेष रोबोटिक आप्रेशन थियेटर शामिल हैं. इन सभी भारत देश के गरीब मरीजों को सुविधायें दी प्रदान की जाती हैं. डा. हर्षवर्धन ने बताया कि सफदरजंग अस्पताल के यूरोलाजी और रेनल ट्रांसप्लांट विभाग ने पहले ही महीने में दो बार, प्रथम अंतर्राष्ट्रीय लाइव थ्री-डी लेप्रोस्कापिक सर्जरी वेबकास्ट की शुरूआत की जिससे जटिल यूराआनकालोजी और रिकंस्ट्रक्टीव सर्जरी को देखा जा सकता है.

इसे स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के ई-हेल्थ आनलाइन एजुकेशन के साथ जोड़ा गया है जो देशभर के 52 मेडिकल कालेजों से भी जुड़ा है. भारत में यूरोलाजी में यह पहला ऐसा कार्यक्रम है. विभाग रोबोटिक सर्जरी का अंतर्राष्ट्रीय लाइव वेबकास्ट नवम्बर 2019 के दूसरे सप्ताह से शुरू करने वाला है. अस्पताल में युवा डाक्टरों को प्रशिक्षण देने के लिए एक राष्ट्रीय रोबोटिक प्रशिक्षण केन्द्र भी स्थापित किया गया है.

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा. हर्षवर्धन ने चिकित्सा अधीक्षक डा सुनील गुप्ता की अध्यक्षता में समूची टीम को गरीब मरीजों को यह सुविधा मुफ्त प्रदान करने के लिए बधाई दी है. केन्द्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की विश्वस्तरीय ढांचा विकसित करने और विश्वस्तरीय विशेषज्ञता भारत के गरीब लोगों तक पहुंचाने की सोच के अनुरूप है.