Monday , 27 January 2020
देवस्थानम विधेयक को मिली मंजूरी, CM रावत ने कहा- यथावत बने रहेंगे तीर्थ पुरोहितों के हित

देवस्थानम विधेयक को मिली मंजूरी, CM रावत ने कहा- यथावत बने रहेंगे तीर्थ पुरोहितों के हित

देहरादून.चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड विधेयक को राजभवन से मंजूरी मिल गई है. इसके बाद उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य के चारों धामों और अन्य मंदिरों के प्रबंधन का कार्य इसी बोर्ड के नियंत्रण में रहेगा लेकिन इनसे जुड़े तीर्थ पुरोहितों के अधिकार यथावत बने रहेंगे.
मुख्यमंत्री ने कहा कि बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री और इनके आसपास के मंदिरों का प्रबंधन चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के नियंत्रण में रहेगा लेकिन इनसे जुड़े पुजारी, न्यासी, तीर्थ पुरोहितों, पंडों और अन्य हक-हकूकधारियों के वर्तमान में प्रचलित दस्तूर और अधिकार यथावत रहेंगे. चार धामों के अतिरिक्त उसके आसपास स्थित 50 से अधिक मंदिरों के प्रबंधन के लिए राज्य सरकार यह विधेयक पिछले साल 9 दिसंबर को विधानसभा में लाई थी. इस विधेयक को विधानसभा में रखे जाने से पहले से ही तीर्थ-पुरोहित इसका विरोध कर रहे हैं.
वहीं सीएम रावत ने कहा कि जब हम कोई भी सुधार करते हैं तो उसकी प्रतिक्रिया होती ही है. उन्होंने कहा कि तीर्थ पुरोहितों के हितों को पूरी तरह सुरक्षित रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि राज्य के चारधाम सहित अन्य धार्मिक स्थलों पर देश-विदेश से हिन्दू श्रद्धालु आना चाहते हैं और हमें अच्छे आतिथ्य के लिए जाना जाता है. देश-विदेश के श्रद्धालुओं को उत्तराखंड के धार्मिक स्थलों पर अच्छी सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए ही यह विधेयक लाया गया है.