Wednesday , 8 July 2020

पदम श्री से सम्मानित भजन सम्राट अनूप जलोटा के भजनों पर झूमते रहे श्रोता व अधिकारी

 रामनगर बाराबंकी. लोधेश्वर महादेवा महोत्सव के सांस्कृतिक पंडाल का दूसरा दिन भजन सम्राट अनूप जलोटा के नाम व उनके द्वारा गाए गए एक से एक भजनों पर श्रोता झूम उठे. भीड़ से खचाखच भरा पंडाल अनूप जलोटा के भजनों पर झूम उठता था. जब उन्होंने गाया जग में सुंदर है दो नाम चाहे कृष्ण कहो या राम, ओम पिया मेरी रंग दे चुनरिया गोपाला एक बांसुरी वाला ऐसी लागी लगन मीरा हो गई मगन मैं नहीं माखन खायो चदरिया झीनी रे झीनी हरी नाम का प्याला, राधे के बिना श्याम आधा, राधा ऐसी भई श्याम की दीवानी, जैसे दर्जनों भजन गाकर लोगों को 10:00 बजे रात पंडाल में बैठने को मजबूर रखा. उनके गाए भजनों पर अधिकारियों सहित पंडाल में मौजूद लोग तालियां बजाते रहे. कार्यक्रम का उद्घाटन, उप जिलाधिकारी आनंद वर्धन, विधायक शरद अवस्थी, जिलाध्यक्ष अवधेश श्रीवास्तव समेत कई जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों ने सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलित कर किया. इसके बाद भजन सम्राट अनूप जलोटा ने अपने भजनों की शुरुआत की. मंच पर मौजूद जनप्रतिनिधि व अधिकारियों ने उन्हें अंग वस्त्र व भगवान लोधेश्वर का मोमेंटो देकर सम्मानित भी किया. अनूप जलोटा के साथ उनके कोरस टीम में सहायक ओंकार शंखधर पवन सिंह अंजली अंजू पांडे मौजूद थी तो वहीं तबला पर स्वराज शर्मा गिटार पर राकेश आर्य सनम श्याम अवस्थी मौजूद रहे. लोगों ने कार्यक्रम का जमकर आनंद लिया.