Saturday , 27 November 2021
प. बंगाल : कांकीनाड़ा स्टेशन में बम मारकर यात्री की हत्या

प. बंगाल : कांकीनाड़ा स्टेशन में बम मारकर यात्री की हत्या

बैरकपुर.कांकीनाड़ा स्टेशन में करीब एक माह पहले ट्रेन के आगे बमबाजी की घटना के बाद अब बदमाशों ने बम मारकर एक यात्री की हत्या कर दी जबकि एक जख्मी हो गया. घटना से स्टेशन परिसर में अफरा-तफरी मच गई. आरपीएफ और जीआरपी के उच्च अधिकारियों ने घटनास्थल का निरीक्षण किया. घटना के बाद एक बार फिर रेलवे की यात्री सुरक्षा पर सवाल खड़े हो गए. पुलिस अधीक्षक (रेलवे) ने लापरवाही के आरोप में सब इंस्पेक्टर समेत चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया. जीआरपी और बैरकपुर पुलिस कमिश्नरेट ने घटना की जांच शुरू कर दी गई है.
सूत्रों के अनुसार नदिया जिले के अंतर्गत माझदिया के भीमपुर निवासी विश्वजीत विश्वास (35) मुजफ्फरपुर में झोलाछाप डाक्टर था. पिता अंडमान में नौकरी करते हैं जबकि घर में मां और बड़ा भाई रहते थे. भाई के खुदकशी कर लिए जाने की खबर पाकर विश्वजीत अपने दोस्त केशव कुमार सोनी, पुत्र गोपाल प्रसाद सोनी, निवासी सिवान (बिहार) के साथ घर आने के लिए 13124 डाउन सीतामढ़ी एक्सप्रेस में सवार हुआ था. बताया गया कि उसके पास एक लाख की नगदी भी थी. उन्हें नैहट्टी उतरकर लोकल ट्रेन से घर जाना था. शनिवार देर रात ट्रेन के नैहट्टी स्टेशन पार करने के बाद अचानक उनकी नींद खुली. रात करीब 2.20 बजे ट्रेन के कांकीनाड़ा स्टेशन पहुंचने पर विश्वजीत और उसका दोस्त केशव उतर गए. प्लेटफार्म 3 पर दोनों लोकल ट्रेन की प्रतीक्षा कर रहे थे.
तभी तीन बदमाश वहां पहुंच गए और नगदी व सोने की चेन छीनने का प्रयास करने लगे. इस पर दोनों पक्षों में विवाद शुरू हो गया. धक्का-मुक्की के चलते विश्वजीत रेल पटरी पर गिर पड़ा. तभी एक बदमाश ने उनपर देशी बम से हमला बोल दिया. गंभीर रूप से जख्मी विश्वजीत की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उनका साथी मामूली रूप से चोटिल हो गया. बम के धमाकों से स्टेशन परिसर में अफरा तफरी मच गई. घटना से रेल महकमे में भी हड़कंप मच गया. सूचना पर आरपीएफ और जीआरपी के साथ ही स्थानीय पुलिस भी पहुंच गई. प्रात: करीब साढ़े चार बजे शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया. शनिवार सुबह आरपीएफ के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त इब्राहिम शरीफ, पुलिस अधीक्षक (रेलवे) अशेष विश्वास ने घटनास्थल का निरीक्षण किया. डॉग स्क्वायड को बुलाकर भी जांच कराई गई.
मृतक के दोस्त की तहरीर पर नैहट्टी जीआरपी ने 398, 302 आइपीसी, 25 व 27 आ‌र्म्स एक्ट और 9 (बी) द्वितीय के तहत मामला दर्ज किया है. मृतक के परिवार का आरोप है कि विश्वजीत के पास नगदी भरा बैग था, जिसे छीनने के लिए ही उसकी हत्या की गई. घटना की जांच जीआरपी और बैरकपुर कमिश्नरेट पुलिस ने शुरू कर दी है. उधर, प्राथमिक जांच के बाद एसपी रेलवे ने ड्यूटी में लापरवाही मानते हुए कांकीनाड़ा जीआरपी के एसआइ देवब्रत भौमिक, एएसआइ शरीफुल इस्लाम, कांस्टेबल शुभंकर दे और कांस्टेबल अरूप भट्टाचार्य को निलंबित कर दिया. स्टेशन में घटना के बाद रेलवे की यात्री सुरक्षा और आरपीएफ की निष्क्रियता पर भी सवाल उठने लगे हैं.