Friday , 5 June 2020

भट्ठों पर काम कर रहे बाहरी मजदूरों को राहत देने की मांग

..रामनगर बाराबंकी .भट्ठों पर काम कर रहे मजदूरों को किसी प्रकार की कोई सहायता सरकार द्वारा नहीं दी गई है जिससे वह परेशान हैं. उन्हें सहायता देने की भट्ठा मालिकों ने मांग की है. रामनगर तहसील क्षेत्र में दर्ज़नों  भट्ठे संचालित  हैं जहां पर उड़ीसा, झारखंड के मजदूर ईटों की पथाई करते हैं.   भट्ठा मालिक सभी मजदूरों को उनके प्रांत में  मजदूर भेजने की ठेकेदारी कर रहे ठेकेदारों से लेते हैं   और पैसे का पेमेंट ठेकेदार द्वारा मजदूरों को दिया जाता है. लॉक डाउन हो जाने से ठेकेदार नहीं आते हैं जिससे भट्ठे के मालिक मजदूरों को खाने-पीने की व्यवस्था  कर रहे हैं .भट्ठा मालिकों के सामने भी समस्या पैदा हो गई है कि वह कहां तक अपने घर से मजदूरों को खिलाएं पिलाएं .उनका कहना था कि मजदूरों को खाद्य विभाग राशन कार्ड बना कर देता तो कम से कम दो-तीन महीने में खाने का राशन उन्हें  मिल जाता . उक्त  व्यवस्था शुरू नही  की गई है.वे लोग सब्जी, दाल ,चावल की व्यवस्था करके उनको किसी प्रकार से भोजन करा रहे हैं.  भट्ठा मालिक मालिक  ननकुंने  सिंह का कहना था अगर सरकार ने  मजदूरों के लिए राशन की अस्थाई  व्यवस्था नहीं  की तो आने वाले दिनों में उन्हें  व उनके बच्चों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा. वे लोग अभी तक   मजदूरों के  परिवार को भोजन दे रहे हैं.