Sunday , 28 November 2021
महाराष्ट्र: अतिरिक्त पानी जमा कर मुंबई को बाढ़-मुक्त बनाने पर विचार

महाराष्ट्र: अतिरिक्त पानी जमा कर मुंबई को बाढ़-मुक्त बनाने पर विचार

मुंबई.मुंबई में हर साल होने वाली जल-जमाव की समस्या का रास्ता जमीन के नीचे पानी इकट्ठा कर निकाला जा सकता है. इस संदर्भ में बीएमसी में जापानी विशेषज्ञों की एक बैठक हुई. जापान की टीम मीठी नदी और आसपास के इलाकों का दौरा कर इस संदर्भ में रिपोर्ट तैयार करेगी. मुंबई में मीठी नदी भरने के बाद जल-जमाव की समस्या गंभीर हो जाती है. बीएमसी कमिश्नर प्रवीण परदेशी जमीन के नीचे बड़े गड्ढे में पानी जमा करने की योजना पर विचार कर रहे थे. इस संदर्भ में उन्होंने अधिकारियों को निर्देश भी दिया था.
जापान के टोक्यो शहर को इसी तरह के प्रयोग से बाढ़ की समस्या से मुक्त कर दिया गया. टोक्यो में जमीन के नीचे बड़े गड्ढे में बारिश के दौरान अतिरिक्त पानी जमा कर उसे बाद में समुद्र में छोड़ दिया जाता है. मुंबई में इस पानी को जमा कर इसे पीने के लिए उपयोग में लाए जाने के विकल्प पर भी विचार किया जाएगा.
विशेषज्ञों की टीम अध्ययन के बाद मीठी नदी के पानी को लेकर संभव कार्ययोजना को प्रस्तुत करेगी, जिसमें गड्ढे के लिए तय स्थान के अलावा पानी के व्यवस्थापना की भी जानकारी होगी. बीएमसी के चार विभागों की जिम्मेदारी संजय दराडे पर दी गई है. दराडे के पास ब्रिज विभाग के अलावा रोड, नाला विभाग के साथ ही साथ गोरेगांव-मुलुंड लिंक रोड की भी जिम्मेदारी सौंप दी गई है. एक चीफ इंजिनियर पर चार-चार विभाग की जिम्मेदारी सौंपने से काम के बड़े भार पर सवाल उठने लाजमी हैं.