Saturday , 15 August 2020

मिनी लाॅकडाउन में बाजारों में सन्नाटा पर गली-मोहल्ले गुलजार

लखनऊ. अािनयंत्रित गति से बढ़ रहे कोरोना केसों को देखते हुये सरकार ने जो दो दिनों का सम्पूर्ण लाॅकडाउन घोषित किया है उसका प्रभाव देखने को नहीं मिल रहा है. लोग अभी भी पहले की तरह ही लापरवाह दिखायी दे रहे है. सड़कों पर पुलिस की मुस्तैदी और सख्ती के चलते सन्नाटा पसरा है. लेकिन गलियों वाले मोहल्लों में पुलिस की चैकसी और सही इंतजाम न होने के कारण काफी चहल-पहल है. यह हाल तब है जब इन मोहल्लों से कोरोना के केस लगातार मिल रहे है. यहां पर न तो लोग जागरूक है और न पुलिस प्रषासन और न स्थानीय जन-प्रतिनिधियों की कोई जागरूकता दिखायी पड़ रही है. मिनी लाॅकडाउन के दौरान नाका थाने के अन्र्तगत बषीरतगंज, रानीगंज, दुर्विजयगंज, दुगाॅवा, हाथीखाना, खुर्षेदबाग आदि मोहल्लों में लाॅकडाउन के दौरान चहल-पहल बनी हुयी है. लोग बिना मास्क पहने झुंड बना कर टहल रहे है.जबकि इन्ही इलाकों में कोरोना के केस निकल रहे है. यही हाल पाण्डेयगंज गल्ला मंडी के आस-पास की गलियों का है. पाण्डेयगंज व्यापार मंडल के अध्यक्ष के कोरोना पाजिटिव पाये जाने के बाद मण्डी तो बन्द है पर गलियो में चहल-पहल पहले की तरह ही है. इसी तरह के नजारे थाना चैक व थाना ठाकुरगंज के अन्र्तगत आने वाले अनेक मोहल्लों में आम है. पुलिस सड़कों पर तो चुस्त है परन्तु गलियों में पुलिसिंग ढीली पड़ रही है. आजादनगर निवासी मनोज मिश्रा ने बताया कि रात में एक बजे तक चालीस से पचास लोग एक साथ झुण्ड बनाकर माहल्ले में आपस में बहस कर रहे थे. बाद में सूचना देने पर पुलिस आयी तब लोग अपने घरों में गये. स्थानीय जन-प्रतिनिधि आदि भी लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिये भी कोई पहल नहीं करते है. गलियांे वाले इलाकों में दुकाने भी बदस्तूर खुली है इन पर लाॅकडाउन का कोई असर नहीं दिखायी दे रहा है. गली और मोहल्ले पहले की ही तरह गुलजार है.