Thursday , 19 September 2019

यूपी रोडवेज के प्रवर्तन दलों में होगा ‘‘बाॅडी वार्न कैमरा’’

लखनऊ. प्रवर्तन गतिविधि“ उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के कामकाज के महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है. बेहतर और सख्त प्रवर्तन “ट्रांसपेरेंट, भ्रष्टाचार मुक्त और प्रभावी प्रवर्तन“ सुनिश्चित करेगा. उपरोक्त उद्देश्य के साथ, उत्तर प्रदेश परिवहन निगम ने मुख्यालय में प्रवर्तन दल के लिए “बॉडी वार्न कैमरा“ का पायलट प्रोजेक्ट और 4 कैमरों के साथ क्षेत्रीय स्तरों पर आयोजित किया. परिणाम उत्साहजनक हैं और “प्रभावी प्रवर्तन“ के लिए अच्छें उपकरण साबित हो रहे हैं.
उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के प्रबन्ध निदेशक डा.राज शेखर ने सभी 80 प्रवर्तन टीमों के लिए “बॉडी वार्न कैमरे“ के लिए आदेश जारी किए हैं. प्रत्येक प्रवर्तन दल द्वारा 1 अक्टूबर से प्रत्येक मार्ग की चेकिंग केवल “बॉडी वार्न वीडियो कैमरे के माध्यम से की जायेगी और वीडियो क्लिप क्षेत्रीय कार्यालय में निरीक्षण रिपोर्ट के साथ अनिवार्य रूप से प्रस्तुत की जाएगी.
उत्तर प्रदेश परिवहन निगम ने 80 बॉडी वार्न वीडियो कैमरा रू. 10,000.00 प्रति कैमरा की दर से कीरू0 8.00 लाख की धनराशि स्वीकृत की है. उ.प्र. परिवहन निगम के प्रबन्ध निदेशक डा. राज शेखर जी ने क्षेत्रीय प्रबन्धकों को सरकार के ऑनलाइन खरीद पोर्टल के जीईएम पोर्टल के माध्यम से “विशिष्ट परिभाषित गुणवत्ता“ “बॉडी वार्न कैमरा“ खरीदने के निर्देश दिये हैं.1 अक्टूबर से, प्रत्येक क्षेत्रीय प्रबन्धक और “इंटरसेप्टर वाहन“ में से प्रत्येक में प्रभावी प्रवर्तन के लिए एक “बॉडी वार्न कैमरा“ होगा.यह हमें बेहतर और गुणवत्तापरक प्रवर्तन गतिविधि के लिए मदद करेगा और उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के चालकोंध्परिचालकों के गलत व्यवहार, बिना टिकट यात्रियों की शिकायत आदि को रोकने में मदद करेगा और जांच के मामलों में “वीडियो साक्ष्य“ के रूप में भी काम करेगा. शिकायतों और एक ही समय में प्रत्येक प्रवर्तन अधिकारी की जिम्मेदारी को ठीक करने में हमारी मदद करेगा.