Saturday , 21 July 2018

राजनीति को ज्यादा महत्व व समाज को घोण समझते है कुछ राजपूत नेता : कानावत

राजसमंद/नाथद्वारा. मेवाड़ क्षत्रिय महासभा की ओर से महाराणा प्रताप की 478वीं जयंती पर रविवार को लालबाग स्थित महाराणा प्रताप राजपूत छात्रावास (क्षत्रिय सभा भवन) नाथद्वारा में महाराणा प्रताप की मूर्ति स्थापना की गई. मूर्ति पर हेलीकॉप्टर से पुष्पवर्षा की गई जबकि इससे पूर्व प्रभु श्रीनाथजी मंदिर पर भी हेलीकॉप्टर से पुष्पवर्षा की गई.

समारोह के मुख्य अतिथि क्षत्रिय महासभा के केन्द्रीय संरक्षक मुख्य अतिथि मनोहरसिंह कृष्णावत, केन्द्रीय अध्यक्ष बालुसिंह कानावत, रावत महेशप्रतापसिंह कोठारिया, पूर्व अध्य्क्ष तेजसिंह बांसी, पूर्व अध्यक्ष गौविंदसिंह चौहान, जिलाअध्य्क्ष नवल सिंह झाला, युवामोर्चा जिलाध्यक्ष चंद्रसिंह झाला थे, जबकि अध्यक्षता समाजसेवी व महासभा तहसील अध्यक्ष लक्ष्मणसिंह झाला भूमलगढ़ ने की. समारोह में ब्राह्मण समाज युवा टीम नाथद्वारा ने महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित की. उन्होंने सभी अथितियों ओर तहसील अध्यक्ष लक्ष्मणसिंह झाला का मेवाड़ी साफा ओर इकलाई ओढ़ाकर स्वागत किया.

सर्वप्रथम महासभा युवा मोर्चा की टीम व सभी अथितियों ने महाराणा प्रताप की मूर्ति को पंडाल से जय घोष के साथ  स्थापना स्थल तक ले गए. जहां पर गगनभेदी नारों व जयगोष के सभी अतिथियों ने प्रताप की प्रतिमा स्थापित की. उन्होंने ने प्रताप की मूर्ति पर माला लाद कर स्वागत किया. छोटे बच्चे ने म्हारा मेवाड़ी सरदार राणा प्रताप गीत से मेवाड़ की गाथा का बखान किया. कार्यक्रम में महासभा के पदाधिकारी, समाज के जनप्रतिनिधी, युवा, महिलाओं सहित समाजजन उपस्थित थे. अन्त: में दिवंगत विधायक कल्याण सिंह चौहान को दो मिनिट का मौन रखकर श्रद्धाजंलि दी गई. आभार हरिसिंह डुलावत ने जताया व संचालन जिला और तहसील महामंत्री श्यामसिंह झाला ने किया.

The post राजनीति को ज्यादा महत्व व समाज को घोण समझते है कुछ राजपूत नेता : कानावत appeared first on Udaipur Kiran

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*