Monday , 18 October 2021

राजस्‍थान में चार दिन की मूसलाधार बारिश ने कोटा में तोड़ा रिकॉर्ड, मची तबाही


कोटा . राजस्थान (Rajasthan)के कोटा संभाग में बीते 4 दिन से हो रही मूसलाधार बारिश ने ‎‎पिछले 40 साल का ‎रिकॉर्ड तोड़ ‎दिया है. शहर में हर जगह पानी-पानी ही नजर आ रहा हैं. इससे लोगों का जनजीवन बहुत प्रभा‎वित हुआ और मवेशी भी मरने की कगार पर हैंि जिला प्रशासन ने मंगलवार (Tuesday) के लिए रेड अलर्ट जारी किया है. राज्य सरकार (State government) के अधिकारियों और कर्मचारियों के बिना अनुमति के जिला मुख्यालय छोड़ने पर पाबंदी लगा दी गई है. कलेक्टर (Collector) उज्जवल राठौड़ ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं. इसके साथ ही रेस्क्यू टीमों को भी मुस्तैद कर दिया गया है.

जिले में दर्जनों गांव जलभराव होने से मुख्य मार्गो से कट गए हैं. कोटा जिले में भारी बारिश से सैकड़ों खेत जलमग्न हो गए हैं. फसलें बर्बादी के कगार पर पहुंच गई हैं. इससे किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें खींच गई हैं. मंगलवार (Tuesday) से इटावा क्षेत्र के जलभराव वाले गांव में रेस्क्यू का जिम्मा एसडीआरएफ की टीम संभालेगी. इसके लिये कोटा से विशेष दल इटावा पहुंच गया है. क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश के कारण मध्य प्रदेश से जुड़ी नदियां पार्वती, परवन, कालीसिंध और चंबल नदी उफान पर है. खतौली के पास केथुदा पुलिया पर बीते 4 दिन से चादर चल रही है. इससे स्टेट हाईवे 70 पूरी तरह से बाधित है. इसके साथ ही आसपास की इलाकों में भी पुलियाओं पर भी पानी की चादर चल रही है.

इस दौरान सोमवार (Monday) को खातौली के नजदीक धनवा गांव में प्रसव पीड़ा से जूझ रही पूजा बैरवा गांव में फंसकर रह गईं. जलभराव के कारण परिजन उनको अस्पताल ले जाने में असमर्थ थे. बाद में जिला प्रशासन एक नाव का जुगाड़ कर उसके जरिए पीड़िता को मुख्य सड़क तक लाकर 108 एंबुलेंस (Ambulances) से खतौली अस्पताल पहुंचाया. कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र सहित प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश से हुए नुकसान को लेकर लोकसभा (Lok Sabha) अध्यक्ष ओम बिरला ने मुख्य सचिव निरंजन आर्य से दूरभाष पर चर्चा कर हालात की समीक्षा की. लोकसभा (Lok Sabha) अध्यक्ष ने कहा कि हाड़ौती सहित प्रदेश के कई जिलों में अतिवृष्टि का दौर जारी है. इस कारण अनेक गांवों में फसलों को नुकसान भी पहुंचा है. उन्होंने मुख्य सचिव से कहा कि अतिवृष्टि से प्रभावित लोगों तक तत्काल सहायता पहुंचायें.