Thursday , 27 February 2020
राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के गठन पर अनुप्रिया पटेल बोलीं- जो जानकार हैं उन्हें ट्रस्ट में रखा गया

राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के गठन पर अनुप्रिया पटेल बोलीं- जो जानकार हैं उन्हें ट्रस्ट में रखा गया

बहराइच. राम मंदिर को लेकर जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट में ओबीसी के सदस्य डाले जाने के मामले में अनुप्रिया ने कहा कि हर चीज को इस नजरिए से नहीं देखना चाहिए. जो इसके जानकार हैं, उन्हें ट्रस्ट में रखा गया है. ये कोई विशेष बात नहीं है.अपना दल की राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद अनुप्रिया पटेल शुक्रवार को बहराइच पहुंचीं. वे पीडब्ल्यूडी डाक बंगले में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रही थीं.उन्होंने कहा कि आज देश में निचले क्लास की हर नौकरियों को आउटसोर्सिंग को दिया जा रहा है. आउटसोर्सिंग के तहत किसी भी भर्ती में आरक्षण का नामोनिशान नहीं है. देश को चलाने के लिए समय-समय पर नीतियों में परिवर्तन होता है. उनके सरकारी उपक्रमों में इस आरक्षण नीति का पालन होता रहा है, लेकिन अब प्राइवेट सेक्टर को दिए जाने के बाद यह व्यवस्था लागू नहीं होगी. इस पर सरकार को सोचना चाहिए. संविधान के तहत बने नियम और कानून का हवाला देते हुए निर्भया के दोषी नए-नए हथकंडे अपनाते हुए बचने का प्रयास कर रहे हैं. यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है, लेकिन उन्हें अब किसी कीमत पर मोहलत नहीं देनी चाहिए. हर हालत में उन्हें फांसी हो जानी चाहिए. जब तक अपराधी फांसी के फंदे तक नहीं पहुंचेंगे, तब तक अपराधियों के अंदर भय पैदा नहीं होगा.