Monday , 25 June 2018

राष्ट्रपति के दौरे से पहले पकड़ा गया संदिग्ध पाकिस्तानी एजेंट

कानपुर:राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आने से पहले सेना ने कानपुर में कैंट से संदिग्ध पाकिस्तानी एजेंट को पकड़ा है. उसके पास से कुछ पर्चे और डायरी बरामद हुई है. पूछताछ के बाद उसे कैंट पुलिस को सौंप दिया गया. मामले की जानकारी मिलते ही आईबी, मिलिट्री इंटेलीजेंस, एलआईयू और एटीएस समेत कई जांच एजेंसियां जांच में जुट गई हैं. 28 और 29 जून को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कानपुर में आईआईटी समेत कई जगह होने वाले कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे. प्रशासन की ओर से उनके ठहरने के लिए कैंट क्षेत्र में रुकने की व्यवस्था संभावित है.
बुधवार सुबह 7:15 मिनट पर जवानों को सैन्य क्षेत्र में एक संदिध युवक घूमता दिखा तो उसे घेराबंदी कर दबोच लिया. सख्ती के साथ पूछताछ हुई तो उसने खुद को लाहौर निवासी पाकिस्तानी सेना का अफसर एहसान खान बताया. तलाशी में उसके पास से बैग, डायरी, मोबाइल और 970 रुपए बरामद हुए. डायरी के एक पेज में लिखे शब्दों के मुताबिक वह पाकिस्तान की खान रेजीमेंट का सदस्य है. हालांकि सीओ कैंट का कहना है कि जांच-पड़ताल में उसका नाम अरविंद शाक्य निकला है. वह फर्रुखाबाद के कायमगंज के तुर्क ललइया गांव का रहने वाला है. फर्रुखाबाद पुलिस ने वहां पता किया तो पिता गिरीश चंद्र और मां कृष्णा से संपर्क हुआ. उन्होंने बेटे का मानसिक संतुलन बिगड़ने की बात कहते हुए कानपुर आने से इनकार कर दिया.
जांच में यह भी पता चला है कि युवक इससे पहले बाघा बॉर्डर और सिखलाई इन्फेंट्री में भी पकड़ा जा चुका है. बार-बार सैन्य क्षेत्र में पकड़े जाने पर पुलिस उसे संदिग्ध मान रही है. सीओ अजीत सिंह चौहान के मुताबिक अभी तक कोई ठोस सुबूत नहीं मिले हैं. जांच के लिए शहर से एलआईयू की टीम व अन्य एजेंसियां फर्रुखाबाद रवाना हो गई हैं. पुलिस ने पकड़े गए युवक के खिलाफ ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट और निषिद्ध स्थान पर प्रवेश करने की धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*