Monday , 26 August 2019

शिक्षकों के सेल्फी ऑनलाइन उपस्थिति आदेश पर मुख्यमंत्री से हस्तक्षेप मांग

लखनऊ. सर्वजन हिताय संरक्षण समिति ने प्रदेश के बेसिक शिक्षकों की प्रेरणा ऐप के माध्यम से ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज किए जाने के विरोध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से हस्तक्षेप की अपील की है द्य समिति के अध्यक्ष शैलेन्द्र दुबे ने मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ को आज पत्र भेज कर अपील की है कि प्रेरणा ऐप के माध्यम से सेल्फी लेकर भेजने की प्रारंभ की जा रही प्रक्रिया के संबंध में वे तत्काल प्रभावी हस्तक्षेप करने की कृपा करें जिससे शिक्षकों विशेषकर महिला शिक्षकों व छोटी बच्चियों की मर्यादा व मान-सम्मान सुरक्षित रह सके और उनमे अनावश्यक कुंठा न व्याप्त हो . पत्र में लिखा गया है कि प्रदेश के बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों व् शिक्षिकाओं की प्रेरणा ऐप के माध्यम से ऑनलाइन सेल्फी के द्वारा उपस्थिति सुनिश्चित कराए जाने की व्यवस्था लागू की जा रही है द्य इस आदेश से ऐसा प्रतीत होता है कि प्रदेश के बेसिक शिक्षकों की निष्ठा पर सरकार एवं शासन द्वारा संदेह व् अविश्वास व्यक्त किया जा रहा है. यह आदेश प्रदेश के बेसिक शिक्षा एवं बेसिक शिक्षकों के व्यापक हित में नहीं हैद्य ऐसे आदेश से बेसिक शिक्षकों में न केवल आक्रोश व्याप्त है बल्कि यह आदेश उनके मनोबल पर भी भारी प्रतिकूल प्रभाव डाल रहा है. समिति के अध्यक्ष शैलेन्द्र दुबे ने बताया कि अधिकांश बेसिक शिक्षक महिलाएं हैं , ऐसे में यह आदेश सामान्य तौर पर शिक्षकों की मर्यादा के विरुद्ध है. विशेषकर महिला शिक्षकों द्वारा सेल्फी लेकर भेजना महिलाओं और छोटी बच्चियों की फोटो डालना निश्चय ही उनके लिए अपमानजनक तो है ही साथ ही उनके निजता के अधिकार का उल्लंघन भी है जिसे तत्काल वापस लिया जाना महिला शिक्षकों व बच्चियों के व्यापक हित में उपयुक्त होगा. उन्होंने कहा कि बेसिक शिक्षक प्रदेश की नई पीढ़ी की आधारशिला रखने में सबसे महत्वपूर्ण कड़ी हैं द्य अतः प्रेरणा ऐप के माध्यम से सेल्फी लेकर भेजने की प्रारंभ की जा रही प्रक्रिया के संबंध में मुख्यमंत्री जी तत्काल प्रभावी हस्तक्षेप करने की कृपा करें जिससे शिक्षकों विशेषकर महिला शिक्षकों व छोटी बच्चियों की मर्यादा व मान-सम्मान सुरक्षित रह सके और उनमे अनावश्यक कुंठा न व्याप्त हो.