Thursday , 27 February 2020
सहवाग ने की धोनी की तारीफ

सहवाग ने की धोनी की तारीफ

नई दिल्ली:पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग को लगता है कि अगर लोकेश राहुल टी-20 में पांचवें नंबर पर कुछ दफा विफल हो जाते हैं तो भारतीय टीम प्रबंधन उन्हें इस स्थान पर बरकरार नहीं रखेगा. उन्होंने कहा कि लेकिन महेंद्र सिंह धोनी के युग में होता था, जब हर किसी को पर्याप्त मौके दिए जाते थे. केएल राहुल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछले दोनों वनडे मैचों में बल्ले का कमाल दिखाया और विकेट के पीछे भी बेहतर प्रदर्शन किया. राजकोट में खेले गए दूसरे वनडे मैच में राहुल 5वें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे थे और उन्होंने अच्छा परफॉर्म किया था.

पूर्व धाकड़ बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने ‘क्रिकबज’ से कहा, ”अगर लोकेश राहुल पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए चार बार विफल रहता है तो मौजूदा भारतीय टीम प्रबंधन उनका स्थान बदलने की कोशिश करेगा. हालांकि, धोनी के साथ ऐसा नहीं होता था, जो जानते थे कि खिलाड़ियों का ऐसे हालात में समर्थन करना कितना अहम होता है क्योंकि वह खुद इस मुश्किल दौर से गुजरे थे.”

सहवाग ने कहा कि जब धोनी कप्तान थे तो टीम चयन में थोड़ी स्पष्टता रहती थी. उन्होंने कहा, ”जब महेंद्र सिंह धोनी कप्तान थे तो बल्लेबाजी इकाई में हर खिलाड़ी के स्थान के संबंध में काफी स्पष्टता रहती थी. वह प्रतिभा का पारखी थे और उन्होंने उन खिलाड़ियों को पहचाना, जो भारतीय क्रिकेट को आगे लेकर गए.”

वहीं, दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया को 3 मैचों की वनडे सीरीज में 2-1 से हराने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि लोकेश राहुल का विकेटकीपर के रूप में इस्तेमाल करने से टीम को संतुलन मिलता है. कप्तान ने संकेत दिए हैं कि राहुल अब न्यूजीलैंड दौरे पर भी पांच मैचों की टी-2० सीरीज में विकेट के पीछे अपनी भूमिका को जारी रखेंगे. राहुल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में चोटिल हुए विकेटकीपर ऋषभ पंत की जगह विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी संभाली थी. पंत इसके बाद दूसरे और तीसरे मैच में भी नहीं खेल पाए, जबकि राहुल ने विकेटकीपर के पीछे बेहतरीन काम करने के अलावा शानदार रन भी बनाए.

कोहली ने मैच के बाद कहा, “निश्चित रूप से यह हमें एक अतिरिक्त बल्लेबाज को खेलाने का मौका देता है. वह टीम में उसी तरह का संतुलन बनाए रखते हैं, जैसा कि 2003 विश्व कप में राहुल द्रविड़ ने भूमिका निभाई थी.”

कनार्टक के बल्लेबाज राहुल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले वनडे में 47, दूसरे में 80 और तीसरे में 19 रनों की पारी खेली. उन्होंने विकेट के पीछे चार कैच भी लपके. कप्तान ने साफ कर दिया है कि वह न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाली टी-20 सीरीज में इसी टीम के साथ उतरेंगे.