Monday , 26 August 2019

सावन के अंतिम सोमवार को थाल वाला भण्डारा

लखनऊ . सावन के अंतिम सोमवार को प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी पकरी के पुल स्थिति मंदिर के समीप भव्य आठवें भण्डारे का आयोजन किया गया. सावन के महिने में जेष्ठ के मंगलवार को होने वाले भण्डारे की तर्ज पर सावन के प्रत्येक सोमवार को शहर के शिव मंदिरों पर भव्य भण्डारे की शुरूआत करने के लिए यह आयोजन किया जा रहा है. भण्डारे के आयोजक मण्डल का कहना है कि जिस तरह से पूरे भारत में जेष्ठ के बड़े मंगलवार के अवसर पर भण्डारे के आयोजन मेें उत्तर प्रदेश की राजधानी का नाम पूरे देश में दर्ज हो चुका है उसी तरह के आयोजन अब प्रत्येक वर्ष सावन के प्रत्येक सोमवार के दिन होना चाहिए.
पकरी पुल पर टेंट लगाकर सम्पन्न हुए इस आठवें भण्डारे के आयोजन की खासियत यह कि भण्डारे में प्रत्येक श्रृद्धालुओं को थाल मेें दो तरह की सब्जी, पुड़़ी, हलवा,बालू शाही, कचैड़ी और दालमखनी चावल का प्रसाद वितरण किया गया. सुबह दस बजे से शाम छह बजे तक भण्डारे में अनवरत् श्रृद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया. आयोजक मण्डल के सहयोगी राजकीय वाहन चालक संध लोनिवि के पूर्व संगठन मंत्री रमेश सिंह ने बताया कि यह भण्डारा सामूहिक सहयोग से आयोजित किया जा रहा है. हमारी मंशा यही है कि जेष्ठ मंगल के भण्डारों की तरह शहर में सावन के सोमवार पर इसी तरह के भण्डारे शहर में आयोजित किये जाए. इस भण्डारे में अरविन्द यादव, दीपक यादव उपाघ्यक्ष लखनऊ बार एसोसिएशन,लल्लन विश्वकर्मा, रामनरेश वर्मा, गोविन्द्र प्रसाद वर्मा, डा. अनूप कुमार, डी.पी. सिंह, बवऊ यादव, रजनी तिवारी, रजनीश सिंह, मीनू तिवारी, बब्लू सिंह, दीपू शुक्ला, विपिन तिवारी, कृपा शंकर दीक्षित, संजय यादव (यादव टैंट हाऊस) और संजय कैटर्स बुद्धेश्वर ने प्रसाद वितरण में भागीदारी निभाई.