Saturday , 27 November 2021
सीआरपीएफ कमाडेंट ने फर्जी हस्ताक्षर कर आईजी के खाते से उड़ाए 20 लाख

सीआरपीएफ कमाडेंट ने फर्जी हस्ताक्षर कर आईजी के खाते से उड़ाए 20 लाख

रांची.झारखंड की राजधानी रांची में एक संघीन मामला सामने आया है. सीआरपीफ के सहायक कमांडेंट संतोष कुमार को गबन के एक मामले में नगड़ी पुलिस ने गिरफ्तार किया है. सहायक कमाडेंट संतोष कुमार पर आईजी के फर्जी हस्ताक्षर कर उनके खाते से 20 लाख रुपए गबन करने का आरोप है. संतोष कुमार सीआरपीएफ झारखंड सेक्टर के आईजी के पीए भी हैं. बता दें कि आरोपी मूल रूप से बेगूसराय का रहने वाला है. जो कि नगड़ी थाना क्षेत्र के सीआरपीएफ के सरकारी क्वार्टर में रहता है. कुछ माह पहले असिस्टेंट कमांडेंट रमेश कुमार जेना ने एफआईआर दर्ज कराई थी. उन्होंने बताया कि सीआरपीएफ आईजी के एक चेक पर फर्जी हस्ताक्षर कर आरोपी ने 20 लाख रुपए निकाल लिए हैं और उनकी चैक बुक भी गायब है.
पुलिस ने अदालत से उनके खिलाफ सर्च वारंट जारी किया गया. पूरी जांच के बाद संतोष पर लगा आरोप सही साबित हुआ और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस की पूछताछ पर संतोष ने बताया कि उसने एक फ्लैट खरीदा था पर उसके पास लोन चुकाने के पैसे नहीं थे. जिसके कारण उसने आईजी के नरली हस्ताक्षर करके उनके खाते से 20 लाख रुपये चुरा लिए. संतोष कुमार पर यह भी आरोप है कि वह एसएस फंड में भेजे गए लाखों रुपए रिसीव कर लेता था, लेकिन उसकी एंट्री नहीं करता था. बताया जा रहा है कि आरोपी ऑफिस में सीक्रेट मैसेज से भी छेड़छाड़ करता था. फिलहाल पुलिस आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ में जुटी है.