Sunday , 28 November 2021
सीतापुर: डीएम ने किया स्वास्थ्य एवं स्वच्छता जागरूकता तथा आयुष्मान भारत शिविर का उद्घाटन

सीतापुर: डीएम ने किया स्वास्थ्य एवं स्वच्छता जागरूकता तथा आयुष्मान भारत शिविर का उद्घाटन

जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी ने शनिवार को सरैंया सानी स्थित प्राथमिक विद्यालय में स्वास्थ्य एवं स्वच्छता जागरूकता तथा आयुष्मान भारत शिविर का उद्घाटन किया. शिविर का आयोजन श्रीकृष्ण नारायण सेवा समिति एवं स्वास्थ्य विभाग सीतापुर के संयुक्त तत्वाधान में किया गया. इस अवसर पर आयोजित स्वास्थ्य शिविर में स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण किया गया व दवाइंया वितरित की गयी. आयुष्मान भारत शिविर में पात्रों के गोल्डेन कार्ड बनाये गये. जिलाधिकारी ने लोगों को पर्यावरण सुरक्षा का संदेश देते हुये परिसर में वृक्षारोपण भी किया. इसके अतिरिक्त विद्यालय के छात्रों को स्टडी किट भी वितरित की.
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये जिलाधिकारी ने कहा कि स्वच्छता के बिना बेहतर स्वास्थ्य सम्भव ही नही है. उन्होंने कहा कि हमारे जीवन की रहन सहन की परम्परा में बेहतर स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने वाले सभी उपायों को सम्मिलित किया गया था. हाथ से चलाने वाली चक्की का उदाहरण देते हुये जिलाधिकारी ने कहा कि इससे शरीर का व्यायाम नियमित रूप से होता रहता था. योग से निरोग के महत्व को भी जिलाधिकारी ने विस्तारपूर्वक बताते हुये कहा कि माननीय प्रधानमंत्री की मंशा है कि योग के साथ-साथ स्वच्छता व जल संचयन को जीवन शैली में शामिल करें. उन्होंने प्रेरित करते हुये कहा कि महात्मा गांधी जी भी अत्यन्त व्यस्त होने के बावजूद भी स्वच्छता को अपनी जीवन शैली में अपनाये हुये थे तथा वह स्वयं व अपने आस-पास स्वच्छता रखते थे. माननीय प्रधानमंत्री जी ने भी स्वयं श्रमदान करके स्वच्छता का संदेश दिया. स्वच्छता ही सेवा के उनके संदेश को पूरे देश ने अपनाया. उन्होंने ग्रामीणों को स्वच्छता की आदत अपनाये जाने हेतु जागरूक करते हुये कहा कि खुले स्थान पर गोबर, कूड़ा, गन्दगी आदि डालने पर वह सड़ता है. इसमें से पैदा हुये कीटाणु मक्खियों के माध्यम से हमारे भोजन तक पहुंचकर हमें बीमार कर सकते है. इसलिये हमें स्वच्छता अवश्य अपनानी चाहिये, इसी से बेहतर स्वास्थ्य सम्भव है.
जल संरक्षण की आवश्यकता पर जोर देते हुये जिलाधिकारी ने कहा कि हमनें अपनी गलतियों से ही पानी की समस्या उत्पन्न कर ली है. यदि हम सचेत नही हुये तो भविष्य में यह समस्या और अधिक विकराल रूप धारण कर सकती है. उन्होंने कहा कि भारत तीन ओर से समुद्र से घिरा है तथा एक ओर हिमालय पर्वत है, जिसमें पर्याप्त वर्षा भी होती है. इसलिये हमें भूमिगत जल का कम से कम दोहन व वर्षा जल का अधिक संरक्षण करके जल संरक्षण किया जा सकता है. जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग की टीम को निर्देश दिये कि अधिक से अधिक लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें आवश्यक दवाइंया दें तथा आवश्यकतानुसार जांच भी करायें. उन्होंने लोगों से अपील भी की कि सभी जांचे समय से कराकर दवाइंया अवश्य लें. लापरवाही करने से बीमारी बढ़ सकती है. उन्होंने स्वास्थ्य शिविर के आयोजन में सहयोग के लिये श्रीकृष्ण नारायण सेवा समिति की प्रशंसा करते हुये कहा कि यह प्रयास निश्चित ही अन्य संस्थाओं के लिये प्रेरणा का स्रोत बनेगी.
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये जिलाध्यक्ष भाजपा अजय गुप्ता ने कहा कि हमें स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहना अत्यन्त आवश्यक है. जीवन शैली की गलतियों के कारण हम बीमार होते हैं और हमें अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है. उन्होंने माननीय प्रधानमंत्री जी के स्वच्छता, सिंगल यूज प्लास्टिक को बंद करने, स्वैच्छिक रक्तदान तथा जल संरक्षण के संदेश के विषय में सभी को विस्तारपूर्वक जानकारी दी.
कार्यक्रम का संचालन उपाध्यक्ष राहुल जायसवाल ने किया. कार्यक्रम के अन्त में आभार श्री कृष्ण नारायण सेवा समिति की अध्यक्षा श्रीमती सुनैना ने किया. इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 आर0के0 नैयर, तहसीलदार सदर, प्रभारी चिकित्साधिकारी खैराबाद आदि लोग उपस्थित रहे.