Monday , 18 October 2021
हिन्दुस्तान ज़िंक के पहली तिमाही वित्तीय परिणामों की घोषणा : रिफाइंड धातु और चांदी का रिकॉर्ड उत्पादन, 1,983 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ

हिन्दुस्तान ज़िंक के पहली तिमाही वित्तीय परिणामों की घोषणा : रिफाइंड धातु और चांदी का रिकॉर्ड उत्पादन, 1,983 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ

वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही की प्रमुख उपलब्धियॉं:-
ऽ खनित धातु उत्पादनः 221केटी
ऽ रिफाइन्ड धातु उत्पादनः 236केटी
ऽ बिक्रीयोग्य चांदी (Silver) का उत्पादनः 161टन
ऽ ज़िंक सीओपीः 1070 डॉलर (Dollar) प्रति टन
उदयपुर (Udaipur), 22 जुलाई 2021ः ज़िंक, सीसा और चांदी (Silver) की अग्रणी वैश्विक एकीकृत उत्पादक कंपनी हिन्दुस्तान ज़िंक ने 30 जून 2021 को पहली तिमाही के वित्तीय परिणामों की घोषणा.
पहली तिमाही के प्रदर्शन पर सीईओ अरुण मिश्रा ने कहा ’’पहली तिमाही में अयस्क, रिफाइंड धातु और चांदी (Silver) का हमने एक बार फिर रिकॉर्ड उत्पादन किया है. वर्ष 2021 में 1.2 एमटीपीए की रन-रेट से बाहर निकलने के बाद हमने उत्पादन की गति को बनाए रखा है तथा कोविड महामारी (Epidemic) की दूसरी लहर में मामलों में बढ़ोतरी के बावजूद वर्ष दर वर्ष पहली तिमाही में अयस्क में 15 प्रतिशत, रिफाइंड धातु में 17 प्रतिशत और चांदी (Silver) में 37 प्रतिशत की वृद्वि हुई है. उत्कृष्ट परिचालन प्रदर्शन के अलावा, मुझे यह बताते हुए प्रसन्नता हो रही है कि हिन्दुस्तान ज़‍ि‍ंक को वर्ल्ड फाइनेंस सस्टेनेबिलिटी अवार्ड-2021 से ‘माइनिंग इंडस्ट्री-2021 में मोस्ट सस्टेनेबल कंपनी‘ का पुरस्कार मिला है. साथ ही, हमारी रामपुरा अगुचा खदान ने नेशनल एनर्जी एफीसिएंसी सर्किल-2021 के 5वें संस्करण में सीआईआई का ‘बेस्ट एप्लीकेशन एंड यूज ऑफ रिन्यूएबल एनर्जी अवार्ड जीता है.

हिन्दुस्तान ज़‍ि‍ंक के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं हेड फाइनेन्स विनय जैन ने बताया कि ’’हमने अब तक का सबसे अच्छा पहली तिमाही में राजस्व, ईबीआईटीडीए और कर के बाद लाभ दिया है. हमारी मजबूत बैलेंस शीट हमें संचालन और डिजिटलीकरण में सक्रिय निवेश करने में सक्षम बनाती है जो हमारे खनन उत्पादन को और आगे बढ़ाएगी. हम कच्चे माल की बढ़ती कीमतों से आने वाली बाधाओं को पहचानते है और लंबे समय तक चलने वाली संरचनात्मक लागत पहल के माध्यम से उन्हें दूर करने के अपने प्रयासों को दोगुना (guna) कर रहे हैं. इसके अतिरिक्त, हम अपने ईएसजी लक्ष्यों के प्रति प्रतिबद्ध हैं और उनके लिए आवश्यक संसाधनों को तैनात करना जारी रखेंगे. एक सस्टेनेबल बिजनिस का निर्माण करते हुए लागत नेतृत्व और लाभप्रदता पर अधिक ध्यान, सभी हितधारकों के लिए दीर्घकालिक मूल्य सुनिश्चित करेंगे.’’

परिचालनीय प्रदर्शन
पहली तिमाही में खनित धातु का उत्पादन बीते वर्श की समान अवधि से 9 प्रतिशत अधिक 221केटी रहा जो उच्चतर अयस्क उत्पादन आंशिक रूप से थोडे़ कमतर समग्र ग्रेड्स द्वारा ऑफसैट कर दिया गया. क्रमिक रूप से एमआईसी उत्पादन 23 प्रतिशत कमतर अयस्क उत्पादन एवं समग्र ग्रेड्स हुआ.

वित्तीय वर्श की पहली तिमाही में एकीकृत धातु उत्पादन 236केटी रहा जो गत वर्ष से 17 प्रतिशत अधिक है जो उच्चतर खनित धातु की उपलब्धता के फलस्वरूप हुआ. एकीकृत जस्ता उत्पादन 188केटी रहा जो पिछले वर्ष की समान अवधि से 20 प्रतिशत अधिक है. एकीकृत सीसा उत्पादन 48 केटी रहा जो गतवर्ष की समान अवधि से 9 प्रतिशत अधिक है.

एकीकृत चांदी (Silver) उत्पादन गतवर्ष से 37 प्रतिशत अधिक 161टन रहा; उच्चतर सीसा उत्पादन आंशिक रूप से एसके में कमतर ग्रेड्स द्वारा ऑफसैट हुआ.
वित्तीय प्रदर्शन
पहली तिमाही परिचालन के दौरान 6,378 करोड़ रुपये का रेवेन्यू अर्जित किया जो कि बीते वर्श की समान अवधि से 64 प्रतिशत अधिक है जो उच्चतर धातु परिमाण, ज़िंक व चांदी (Silver) की उच्चतर कीमतों के कारण रेवेन्यू में यह बढ़त मिली है. इस तिमाही में ज़िंक की बिक्री 15 प्रतिशत और सीसे की बिक्री 9 प्रतिशत बढ़ी, यह उच्चतर उत्पादन और दमदार मांग की वजह से मुमकिन हुआ.

वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में ईबीआईटीडीए 3,558 करोड़ रुपये हो गया, जो बीते वर्श के मुकाबले 123 प्रतिशत अधिक है. ईबीआईटीडीए बीते वर्ष की तुलना से अधिक एलएमई में उच्चतर जस्ता सीसा एवं चांदी (Silver) की कीमतों में वृद्धि तथा उच्चतर धातु की वजह से रहा है.

कंपनी ने वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में 1,983 करोड रुपये का शुद्ध लाभ अर्जित किया है जो गतवर्श से 46 प्रतिशत अधिक दर्शाता है. शुद्ध लाभ में वृद्धि मुख्य रूप से धातु की कीमतों में सुधार और उच्चतर मात्रा की वजह से रहा है.

आउटलुक
हम वित्तीय वर्ष 2022 के लिए परिचालन और वित्तीय मेट्रिक्स पर अपने नीचे दिये गए मार्गदर्शन को बनाए रखते हैं. इनपुट कमोडिटी के संदर्भ में, प्रबन्धन स्थिति को बारीकी से निगरानी कर रहा है और इससे निपटने के लिए आवश्यक कार्रवाई कर रहे है.
वित्तीय वर्श 2022 में खनित और फिनिश्चड धातु दोनों का उत्पादन बण्1025.1050 ज्ञज् होने की संभावना है.
वित्तीय वर्ष 2022 में बिक्री योग्य चांदी (Silver) का उत्पादन बण्720 डज् होने की संभावना है.
वित्तीय वर्ष 2022 में जिंक की उत्पादन लागत 1000 डॉलर (Dollar) प्रति मीट्रिक टन से कम रहने की संभावना है.
वित्तीय वर्ष के लिए परियोजना पूंजीगत व्यय लगभग 1000 अमेरिकी डॉलर (Dollar) होने की उम्मीद है.

परियोजनाएं
वित्तीय वर्ष की तिमाही के दौरान सभी खदानों में डिजिटलीकरण अभियान जारी रहेगा. स्टॉप साइकिल टाइम को कम करने के लिए शार्ट इंटरवेल कंट्रोल के साथ डिजिटल नियंत्रण कक्ष की स्थापना, उच्च वर्तमान क्षमता बनाए रखने के लिए इंपियरिटी ट्रेकिंग के लिए ऑनलाइन विश्लेषक जैसी पहल पर कार्य जारी है.
एकीकरण के बाद, रामपुरा आगुचा खदान और सिंदेसर खुर्द खदान में शाफ्ट पूरी तरह से चालू हैं. वेंटिलेशन और कूलिंग सिस्टम (चिलर यूनिट्स) को एक आसन तरीके से इसकी सुविधा के लिए स्थापित किया गया है. इसके अलावा, ग्राइंडिंग के उद्देश्य से दोनों एसके और आरडी मिलों में उन्नत प्रक्रिया नियंत्रण (एपीसी) के बढ़ते उपयोग का वसूली में सुधार के लिए किया जाता है.

कोविड-19 (Covid-19) संबंधी प्रतिबंधों के अलावा चीनी नागरिकों के लिए कड़े वीज़ा दिशानिर्देश इस तिमाही में रहे जिसके चलते चंदेरिया में फ्यूमर प्लांट की कमिशनिंग में देरी हुई. नवंबर 2021 के अंत तक फ्यूमर प्लांट प्रारंभ होने की संभावना है.

नकदी और निवेश
30 जून 2021 को कंपनी की सकल नकदी और नकदी समकक्ष चौथी तिमाही में रु. 22,308 करोड़ था जो इस तिमाही में यह आंकड़ा रु. 23,902 करोड़ है.

30 जून 2021 को कंपनी की शुद्ध नकदी और नकदी समकक्ष चौथी तिमाही में रु. 15,130 करोड़ रुपये थे जो इस तिमाही में यह आंकड़ा रु. 17,249 करोड़ है और इसे उच्च क्वालिटी के डेट इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश किया गया.