Tuesday , 11 December 2018
झूमकर बरसे भादों के मेघ, नदी-नाले उफने, जिले में 10 रास्ते हुए अवरुद्ध, पीपलखूंट में साढ़े पांच इंच, प्रतापगढ़ में सवा चार इंच बारिश

झूमकर बरसे भादों के मेघ, नदी-नाले उफने, जिले में 10 रास्ते हुए अवरुद्ध, पीपलखूंट में साढ़े पांच इंच, प्रतापगढ़ में सवा चार इंच बारिश

प्रतापगढ़. पिछले 3 दिन से चल रहा बारिश का दौर रविवार को भी जारी रहने से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया. शनिवार रात से जारी बरसात के कारण जिले में अरनोद, दलोट, पीपलखूंट, छोटीसादड़ी समेत कई जगह नदी- नाले उफान पर रहे. इससे रतलाम समेत कई मार्ग बाधित हो गए. जिला मुख्यालय पर रविवार दोपहर तक रिमझिम बारिश हुई. बीते 24 घंटों में जिले के पीपलखूंट में सर्वाधिक 140 मिलीमीटर यानि साढ़े पांच इंच बरसात दर्ज की गई, वहीं प्रतापगढ़ तहसील में सवा चार इंच, अरनोद में चार, छोटीसादड़ी में पौने तीन इंच और धरियावद में ढाई इंच बारिश रिकॉर्ड की गई.

जिले के सबसे बड़े 31 मीटर क्षमता वाले जाखम बांध का भी जल स्तर बढ़कर 30.15 मीटर पहुंच गया है. वहीं भंवर सेमला बांध में लगातार
पानी की आवक के चलते रविवार को सुबह 6 बजे बांध के पांचों गेट खोल दिए गए. भंवर सेमला बांध के पांचों गेट दूसरी बार खोले गए है.  जिले में एक बार फिर सक्रिय हुए मानसून में शुक्रवार देर रात से शुरू हुआ बारिश का दौर रविवार को भी जारी रहा. जिला मुख्यालय पर दोपहर तक रिमझिम बारिश का दौर चलता रहा. जिले के 4 बांध लबालब होकर छलक चुके हैं. वहीं जाखम बांध भी अब महज दो मीटर खाली रह गया है. बीते 24 घंटों में प्रतापगढ़ तहसील में 105 एमएम, छोटीसादड़ी 65, अरनोद 102, धरियावद 59 व पीपलखूंट में सर्वाधिक 140 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई है. जिले में पिछले 24 घंटों में 82.07 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई है. अब तक जिले में औसत बारिश के मुकाबले 107.61 प्रतिशत बारिश हो चुकी है. इसके साथ ही जिले में अब तक कुल 955.56 एमएम बारिश हो चुकी है. बादल छाए रहने और
दिन भर ठंडी हवा चलने से मौसम में ठंडक घुल गई.

Source : http://udaipurkiran.in/hindi/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*