Wednesday , 14 November 2018

वसुंधरा की बैठक में टिकट को लेकर हंगामा, लगे हाय-हाय के नारे

पाली, 15 अक्टूबर (उदयपुर किरण). राजस्थान में भाजपा के टिकट के लिए महामंथन का दूसरा दिन हंगामेदार रहा. रणकपुर में कार्यक्रम स्थल के बाहर प्रवेश नहीं मिलने से कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की, वहीं फीडबैक के दौरान कार्यकर्ताओं द्वारा वर्तमान विधायकों का विरोध की सूचनाएं भी सामने आई.

राजस्थान की 130 विधानसभा सीटों पर टिकट के विचार मंथन को लेकर पाली के रणकपुर में तीन दिनों के लिए प्रवास कर रही वसुंधरा राजे ने कार्यक्रम के दूसरे दिन सोमवार को शेरगढ़, लोहावट, फलौदी, पाली, बाली, सोजत, मारवाड़ जंक्शन, जैतारण और सुमेरपुर की सीटों के लिए दावेदारों से चर्चा की. साथ ही कार्यकर्ताओं से फीडबैक लिया. इसके बाद राजे ने जालोर, सिरोही, बाड़मेर, जैसलमेर, राजसमंद, चित्तौडग़ढ़ की विधानसभा सीटों को लेकर दावेदारों से चर्चा की. चर्चा से पहले राजे ने सभी कार्यकर्ताओं की दो अलग-अलग सामूहिक बैठक लेकर इस चुनाव में भाजपा को जिताने के लिए जोश भरा. उन्होंने कार्यकर्ताओं से साफ कहा कि आप सभी भाजपा के लिए मेहनत कर रहे हैं, इसका फल हमारी सरकार बनने पर मिलेगा. किस क्षेत्र से कौनसा चेहरा आता है वह आप के बीच का कार्यकर्ता ही होगा.

कार्यकर्ताओं ने किया विरोध

कार्यक्रम स्थल के बाहर सुबह 11 बजे के करीब अलग-अलग क्षेत्रों से आए कार्यकर्ताओं को सभा स्थल में घुसने से रोकने को लेकर कार्यकर्ता नाराज हुए और उन्होंने व्यवस्थाओं को लेकर हाय-हाय के नारे लगाना शुरू कर दिया. इसके बाद उपमुख्य सचेतक मदन राठौड़ ने कार्यकर्ताओं को लताड़ भी लगाई. जानकारी के अनुसार जैतारण का फीडबैक लेने के दौरान वर्तमान विधायक और केबिनेट मंत्री सुरेंद्र गोयल को लेकर भी कार्यकार्ताओं ने विरोध जताया. हालांकि, विरोध करने वाले कार्यकर्ता जैतारण से टिकट की दावेदारी कर रहे पुष्पेंद्र सिंह कुडक़ी के ही थे. गौरतलब है कि गोयल और कुडक़ी में गौरव यात्रा के पहले से ही अनबन चल रही है. गौरवयात्रा से पहले भी कुडक़ी ने कार्यकर्ताओं की सभा कर राजे की आमसभा दो स्थानों पर कराने की मांग की थी. जैतारण सीट से टिकट के लिए दोनों ने ही अपनी-अपनी दावेदारी जताई है. पाली विधानसभा सीट से ज्ञानचंद पारख के अलावा इस बार जिला परिषद सदस्य खीमाराम ढारीया के भी टिकट की दावेदारी करने की सूचना सामने आई है.

बताया जा रहा है कि पिछले तीन-चार दिनों से पारख के समर्थक सोशल मीडिया पर ढारिया सहित दो भाजपा नेताओं के खिलाफ बयानबाजी कर रहे थे. इसे भी ढारिया का पाली से टिकट का आवेदन करने का कारण माना जा रहा है. सोजत से इस बार वर्तमान विधायक संजना आगरी के अलावा लक्ष्मी बारूपाल और रायपुर प्रधान शोभा चौहान ने भी टिकट के लिए दावेदारी की है. अंदर ही अंदर चर्चा चल रही है कि गौरवयात्रा के बाद से ही मुख्यमंत्री सोजत विधायक आगरी पर नाराज हैं. इस कारण सोजत में इस बार चेहरा बदल भी सकता है. मारवाड़ जंक्शन की सीट पर इस बार सबसे ज्यादा दावेदार सामने आए हैं. वर्तमान विधायक केसाराम सीरवी के अलावा इस बार जिला प्रमुख पेमाराम सीरवी, हेमंत बी गादाणा, पूर्व मंत्री लक्ष्मीनारायण दवे, भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष और पूर्व सांसद पुष्प जैन के भी दावेदारी की बात सामने आई है.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*