Wednesday , 14 November 2018

ज्वालामुखी से बनी आइसलैंड की 3000 साल पुरानी झील, इसमें फ्लोटिंग कंसर्ट भी होते हैं, हर साल 50 लाख पर्यटक आते हैं

यह फोटो दक्षिणी आइसलैंड के ग्रिम्सनेस इलाके में स्थित कैरिड झील की है. बताया जाता है कि 3000 साल पहले एक बड़े ज्वालामुखी की वजह से इस झील का निर्माण हुआ था. यह आइसलैंड के मशहूर गोल्डन सर्किल के तहत आती है. इस इलाके को ज्वालामुखीय क्षेत्र के नाम से जाना जाता है, जिसमें रिक्जेन्स प्रायद्वीप और लैंगजोक्कुल ग्लेशियर शामिल है. यह प्राकृतिक रूप से संरक्षित क्षेत्र भी है. लाल और भूरी मिट्टी से घिरी ये झील करीब 55 मीटर (180 फीट) गहरी, 170 मीटर (560 फीट) चौड़ी और 270 मीटर (890 फीट) लंबी है. पानी भरा होने पर इसमें फ्लोटिंग कंसर्ट यानी तैरती सतह पर आयोजन भी होते हैं. सर्दियों में झील के जम जाने पर पर्यटक इसमें उतरकर चहलकदमी भी करते हैं. इसे देखने हर साल करीब 50 लाख पर्यटक आते हैं. – इस फोटो को चीन के फोटोग्राफर नायान फेंग ने लिया है. आईफोन फोटोग्राफी अवॉर्ड्स में यह फोटो तीसरे स्थान पर रही है. @naianfeng.com

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*